ओवैसी ने मोदी सरकार द्वारा किए गए चार साल के कार्य को लेकर खड़ा किया ये सवाल

मंगलवार को ऑल इंडिया मज्लिस-ए-इतेहदुल मुसलिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार द्वारा किए गए चार साल के कार्य को लेकर सवाल खड़ा किया है.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री  मुख्तार अब्बास नकवी ने झूठ बोला कि मुस्लिम प्रतिनिधित्व का प्रतिशत बढ़ गया है. उन्होंने कहा कि इसलिए मैंने सरकार के इन गलत दावों का खुलासा किया है.

प्रधानमंत्री ने दावा किया कि वह एक हाथ और कंप्यूटर में कुरान देना चाहते हैं, लेकिन पिछले 4 वर्षों में उन्होंने क्या किया है.

ओवैसी ने कहा कि सबसे दुर्भाग्यपूर्ण बात यह है कि हालिया विवाद मुसलमानों को लेकर आया है, मुस्लिम इस पार्टी या उस पार्टी का हिस्सा नहीं हैं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पीएम मोदी के बयान मुस्लमानों को क्या संदेश दे रहे हैं, अगर ऐसा ही होता रहा तो मुस्लिम शब्द का इस्तेमाल करना ध्रुवीकरण की वजह बन जाएगी.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं नरेंद्र मोदी से पूछना चाहता हूं कि इस चार वर्षों में सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, आरएएफ, बीएसएफ में मुसलमानों को आपने कितनी नौकरियां दी हैं?

जब आप मुस्लिम महिलाओं के लिए न्याय के बारे में बात करते हैं, तो सीआईएसएफ में केवल 7.3% और 6.9% मुस्लिम सीआरपीएफ में हैं.