कमलनाथ ने बाबा महाकाल को लिखा खत, खत में शिवराज सरकार पर लगाए ये गंभीर आरोप

कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने शुक्रवार को उज्जैन के बाबा महाकाल को पत्र लिखकर कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आशीर्वाद देने के बजाय उन्हें उनके धोखा व छल का फल देने का समय आ गया है. मुख्यमंत्री शिवराज शनिवार से जन आशीर्वाद यात्रा शुरू करने वाले हैं, जिसके मद्देनजर कमलनाथ ने यह खत बाबा महाकाल को लिखा है.

कमनाथ ने खत में लिखा है, “पांच साल पहले (शिवराज सिंह) चौहान ने आपको प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता का अंश मानकर आपकी पूजा-अर्चना की थी. साथ ही प्रदेश को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने का वादा किया था. शिवराज एक बार फिर से चुनावी आशीर्वाद यात्रा निकालने आपके समक्ष आ रहे हैं. यह मतदाताओं को धार्मिक आस्था के नाम पर ठगने का खेल खेलने की तैयारी है.”

उल्लेखनीय है कि शिवराज भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में शनिवार से जन आशीर्वाद यात्रा शुरू करने जा रहे हैं.यह यात्रा प्रदेश के सभी 230 विधानसभा क्षेत्रों में जाएगी.

कमलनाथ ने पत्र में खिला है, “प्रदेश की स्थिति भयावह है, किसान कर्ज के बोझ के चलते आत्महत्या कर रहे हैं, उसे हक मांगने पर सीने पर गोलियां मिलती हैं, युवा बेरोजगारी के कारण खुद को ठगा-सा महसूस कर आत्महत्या कर रहे हैं. मामा के राज्य में मासूम भांजियां दरिंदगी का शिकार हो रही हैं. व्यापमं घोटाले में आरोपी तो बच गए हैं, युवा और उनके परिजन जेल में हैं. भ्रष्टाचार, घोटाले जारी हैं, और प्रचार पर करोड़ों रुपये फूंके जा रहे हैं.”

कमलनाथ ने पत्र में आगे लिखा है, “बाबा आप अंतर्यामी हैं, एक बार फिर ठगने वाले आपके सामने आ रहे हैं, छल व प्रपंच की तैयारी है.लेकिन अब आशीर्वाद नहीं, धोखे व कर्मो का फल देने का समय आ गया है. अब आप जनता को आशीर्वाद देकर उसे शिवराज के कुशासन से मुक्ति दिलाएं.”