रोहित की शानदार सेंचुरी की बदौलत भारत ने इंग्लैंड को 7 विकेट से हराया, सीरीज भी की अपने नाम

रोहित शर्मा की तीसरी टी20 इंटरनैशनल सेंचुरी के दम पर भारत ने इंग्लैंड को 7 विकेट से हरा दिया है. इसके साथ ही भारत ने तीन टी20 इंटरनैशनल मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली है. भारत ने टॉस जीतकर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया. इंग्लैंड ने जेसन रॉय (67) की हाफ सेंचुरी के दम पर निर्धारित 20 ओवरों में 8 विकेट पर 198 रन बनाए. जवाब में भारत ने 18.4 ओवरों में 3 विकेट पर 201 रन बनाकर मैच और सीरीज पर कब्जा किया. रोहित शर्मा को उनकी उम्दा पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

इस मैच में 199 रन की चुनौती लेकर उतरी टीम इंडिया के लिए शिखर धवन और रोहित की जोड़ी ने पारी की शुरुआत की. दोनों बल्लेबाजों ने 2 ओवर में मिलकर 21 रन जोड़े. इस बीच तीसरे ओवर की पहली बॉल पर शिखर धवन (5) डेविड विली की बॉल पर शॉर्ट फाइन लेग पर खड़े जेक बॉल को कैच दे बैठे.

शिखर के बाद रोहित शर्मा का साथ देने केएल राहुल आए और दोनों भारत की रनगति को रुकने नहीं दिया. राहुल पावरप्ले का फायदा उठाना चाहते थे और इस प्रयास में वह पावरप्ले के अंतिम ओवर में जेक बॉल का शिकार बन गए. राहुल (19) ने जेक बॉल को 1 छक्का जड़ने के बाद दोबारा उन पर वाइड लॉन्ग ऑन की ओर कड़ा प्रहार किया. लग रहा था कि बॉल बाउंड्री पार जाकर ही गिरेगी, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया और क्रिस जॉर्डन ने राहुल का शानदार कैच लपक कर उनकी पारी का अंत किया. जॉर्डन ने दौड़ते हुए हवा में छलांग लगाकर राहुल का कैच पकड़ा.

राहुल के बाद रोहित का साथ देने क्रीज पर कप्तान विराट कोहली आए और दोनों ने मैच में जरूरी रनरेट को ध्यान में रखते हुए रनगति को बनाए रखा. रोहित शर्मा ने विराट के साथ मिलकर अपनी हाफ सेंचुरी पूरी कर ली और दूसरे छोर से विराट भी उन्हें जरूरी सहयोग देते रहे. इन दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर महज 33 बॉल में 53 रन की साझेदारी पूरी कर ली. रोहित और कोहली की जोड़ी ने तीसरे विकेट के लिए 89 रन जोड़े.

जब विराट आउट हुए, तो भारत को जीत के लिए 5 ओवर में 48 रन की दरकार थी. टीम मैनेजमेंट ने यहां हार्दिक पंड्या को भेजा, जबकि दूसरे छोर पर क्रीज पर नजरें जमा चुके रोहित शर्मा मौजूद थे. पंड्या ने 14 बॉल पर 33 रन की पारी खेली, जिसमें उन्होंने 4 चौके और 2 छक्के भी जमाए. इस बीच रोहित ने अपने टी20 इंटरनैशनल करियर की तीसरी सेंचुरी पूरी की. इसके बाद हार्दिक ने क्रिस जॉर्डन को छक्का जड़कर यह मैच और सीरीज 8 बॉल शेष रहते भारत की झोली में डाल दिया.

इससे पहले इंग्लैंड ने भारत के सामने 199 रन का लक्ष्य रखा. मेजबान टीम ने जेसन रॉय (67) और जोस बटलर (34) की शानदार पारी की बदौलत निर्धारित 20 ओवर में 9 विकेट गंवाकर 198 रन जोड़े. भारत के लिए हार्दिक पंड्या ने सबसे ज्यादा 4 विकेट लिए. वहीं विकेट के पीछे खड़े धोनी ने 6 इंग्लिश बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया. धोनी ने मैच में 5 कैच जबकि 1 रन आउट किया.

टॉस जीतकर भारत ने इंग्लैंड को पहले बैटिंग का निमंत्रण दिया था. इंग्लैंड के लिए उसके ओपनिंग जोड़ी ने शानदार शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 94 रन जोड़े. पहले विकेट के रूप में बटलर (34) आउट हुए. इंग्लैंड को पहला झटका सिद्धार्थ कौल ने दिया. कौल ने इंग्लिश पारी के 8वें ओवर में उन्होंने जोस बटलर (34) को बोल्ड कर दिया.

बटलर के आउट होने के बाद भी रॉय (67) रुकने के मूड में नहीं थे. लेकिन इस बीच अपना पहला मैच खेल रहे दीपक चाहर ने उन्हें महेंद्र सिंह धोनी के हाथों कैच आउट करा दिया. 31 बॉल की अपनी पारी में रॉय ने 4 चौके और 7 छक्के जमाए. वहीं बटलर ने 21 बॉल में 7 चौकों की मदद से 34 रन बनाए.

अपने दोनों ओपनर्स के विकेट गंवाने के बाद इंग्लैंड की रनगति पर कुछ लगाम लगी और इस बीच पारी के 14वें ओवर में कप्तान इयोन मॉर्गन ने कमान अपने हाथ में लेने की सोची. लेकिन हार्दिक पंड्या की बॉल पर मॉर्गन (6) ने बड़ा शॉट खेलना चाहा, लेकिन गेंद ऊंची हवा में खड़ी हो गई औवर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने कैच पकड़कर उनका काम तमाम कर दिया.

इस ओवर में 4 बॉल बाद ही रंग में दिख रहे एलेक्स हेल्स (30) भी गलती कर गए और वह महेंद्र सिंह धोनी के हाथ में आसान सा कैच दे बैठे. इस 1 ओवर में हार्दिक ने 2 विकेट अपने नाम किए. इसके बाद हार्दिक ने बेन स्टोक्स (14) और जॉनी बेयरस्टो (25) को भी अपना शिकार बनाया. हार्दिक ने अपने कोटे के 4 ओवर में 38 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए. यहां तक इंग्लैंड 18 ओवर में 6 विकेट गंवाकर 181 जोड़ चुकी थी.

अंतिम दो ओवर में इंग्लिश टीम अपना स्कोर 200 पार ले जाना चाहती थी लेकिन भारतीय टीम ने इंग्लैंड की पारी 198 रन से आगे नहीं बढ़ने दिया. 19वें ओवर में उमेश यादव ने डेविड विली (1) को शानदार यॉर्कर पर बोल्ड कर दिया. इसके बाद अंतिम ओवर में सिद्धार्थ कौल ने लियाम प्लेंकेट (9) को धोनी के हाथों कैच आउट करा कर अपना दूसरा विकेट लिया. पारी की अंतिम बॉल पर धोनी ने क्रिस जॉर्डन को रन आउट कर इंग्लैंड की पारी 198/9 रन पर रोक दी.