कार्डिफ टी-20 : सीरीज अपने नाम करने उतरेगी टीम इंडिया

कार्डिफ|… टीम इंडिया ने मैनचेस्टर में खेले गए पहले मैच में जीत हासिल कर तीन टी-20 मैचों की सीरीज में इंग्लैंड पर 1-0 की बढ़त ले ली है. दूसरे मैच में दोनों टीमें सोफिया गार्डन्स में शुक्रवार को आमने-सामने होंगी. टीम इंडिया इस मैच को जीत सीरीज पर कब्जा जमाना चाहेगा तो मेजबान के पास यह मैच वापसी का मौका है.

पिछले मैच में टीम इंडिया ने जिस तरह का प्रदर्शन किया था उसी को दोहराती है तो इंग्लैंड का वापसी का अरमान ठंड़ा पड़ जाएगा.

इंग्लैंड के लिए किसी भी तरह से वापसी आसान नहीं रहने वाली है. उसकी राह में सबसे बड़ा रोड़ा कुलदीप यादव और युजवेंद्रा चहल की जोड़ी हैं. कलाई के स्पिनरों ने इंग्लैंड को पिछले मैच में खासा परेशान किया था. कुलदीप ने पांच विकेट अपने नाम किए थे. चहल हालांकि विकेट नहीं ले पाए थे लेकिन उनमें विकेट लेने और रन रोकने की काबिलियत है.

यह जोड़ी इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए पूरी सीरीज में परेशानी का सबब होगी. इससे पार पाना मेजबानों की पहली चुनौती है. यह दोनों मध्य के ओवरों में रन भी रोकते है और विकेट भी निकालते हैं. बीते मैचों में भी यह देखने को मिला है.

इंग्लैंड के लिए हालांकि परेशानी यहीं खत्म नहीं हो जाती है. टीम इंडिया की बल्लेबाजी उसके लिए दूसरा चिंता का सबब है. मैनचेस्टर में लोकेश राहुल ने इंग्लैंड के गेंदबाजों की जमकर बक्खियां उधेड़ी थीं. वह शानदार फॉर्म में हैं और इस मैच में भी इंग्लैंड के लिए खतरा बन सकते हैं.

राहुल के अलावा कप्तान विराट कोहली, शिखर धवन, महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पांड्या भी फॉर्म में हैं. पिछले मैच में टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार प्रभावी नहीं रहे थे. उनके हिस्से विकेट भी नहीं आया था. इस मैच में भुवनेश्वर अपना खाता खोलना चाहेंगे. उनके अलावा तेज गेंदबाजी का जिम्मा उमेश यादव और पांड्या पर होगा.

इंग्लैंड की बात की जाए तो उसके पास पिछले मैच में जोस बटलर के अलावा कोई खासा प्रभाव नहीं छोड़ सका था. बटलर के अलावा मेजबानों के पास जेसन रॉय, एलेक्स हेल्स, जॉनी बेयर्सटो, कप्तान इयोन मोर्गन टी-20 के दिग्गज बल्लेबाज हैं.

इन सभी के ऊपर कुलदीप, चहल से निपटने का जिम्मा होगा. गेंदबाजी में लियाम प्लंकट, डेविड विले को वापसी करनी होगी. वहीं स्पिन विभाग में मोइन अली और आदिल राशिद को बड़ी भूमिका निभानी होगी.

टीमें :

टीम इंडिया : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, लोकेश राहुल, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या, क्रूणाल पांड्या, सुरेश रैना, युजवेंद्रा चहल, कुलदीप यादव, दीपक चहर, सिद्धार्थ कौल, भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव.

इंग्लैंड : इयोन मोर्गन (कप्तान), मोइन अली, जॉनी बेयर्सटो, जैक बाल, जोस बटलर, सैम कुरैन, एलेक्स हेल्स, क्रिस जोर्डन, लियाम प्लंकट, आदिल राशिद, जोए रूट, जेसन रॉय और डेविड विले.