3 में से 2 भारतीय मोबाइल का इस्तेमाल बंद नहीं कर सकते : सर्वेक्षण

डिजिटल उपकरण अब भारत में कई लोगों के जीवन का इतना बड़ा हिस्सा बन गए हैं कि देश के दो-तिहाई उपयोगकर्ताओं को अपने मोबाइल फोन से दूर रहना मुश्किल हो गया है. एक वैश्विक डिजिटल सामग्री वितरण मंच लाइमलाइट नेटवर्क्‍स की ‘द स्टेट ऑफ डिजिटल्स लाइफस्टाइल्स-2018’ नामक रपट के अनुसार, अपने मोबाइल फोन से अलग होने के इच्छुक उपयोगकर्ताओं का वैश्विक औसत 48 प्रतिशत है.

10 देशों में उपभोक्ताओं के सर्वेक्षण के आधार पर निकाले गए निष्कर्ष के अनुसार, डिजिटल उपकरणों के सबसे ज्यादा आदी लोगों में मलेशिया के बाद भारतीय उपभोक्ताओं का स्थान है.

लाइमलाइट नेटवर्क्‍स ने एक बयान में कहा है कि लैपटॉप और डेस्कटॉप कंप्यूटर भारतीय उपयोगकर्ताओं के लिए दूसरी सबसे अनिवार्य डिजिटल प्रौद्योगिकी हैं. 45 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने बताया कि वे बिना इसके एक दिन भी नहीं रह सकते हैं. यह विश्व भर के उपयोगकर्ताओं की संख्या (33 प्रतिशत ) से 12 प्रतिशत अधिक है.

भारतीय उत्तरदाताओं में 90 प्रतिशत से अधिक लोगों ने कहा कि डिजिटल प्रौद्योगिकी ने उनके जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है. भारत के उपयोगकर्ताओं ने सर्वेक्षण में सभी देशों के लोगों से अधिक सभी प्रकार की ऑनलाइन डिजिटल सामग्री में उच्चतम स्तर की भागीदारी भी दिखाई.