व्हाट्स एप ने गलत सूचनाओं को रोकने लिए भारतीय विशेषज्ञों से मांगी मदद

व्हाट्स एप पर अफवाहें फैलने से देश भर में कई लोगों की हत्या और सरकार द्वारा इस स्थिति पर गंभीर चिंता जताए जाने के बीच फेसबुक के स्वामित्व वाली संदेश सेवा कंपनी ने कहा है कि वह इस पर शोध कराएगी कि भारत में उसके मंच पर अफवाहें आग की तरह तेजी से क्यों फैल रही हैं.

आईटी मंत्रालय ने मंगलवार को व्हाट्स एप से अपने मंच पर झूठी खबरें और कभी-कभी किसी खास मकसद के लिए प्रेरित व सनसनीखेज संदेशों के प्रसार पर रोक लगाने के लिए जरूरी उपाय करने को कहा. व्हाट्स एप के भारत में 20 करोड़ से ज्यादा मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता हैं.

उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा समस्याओं की अपनी समझ को बेहतर बनाने पर व्हाट्स एप ने कहा कि वह भारत में व्हाट्स एप पर गलत जानकारी से संबंधित मुद्दों की खोज में दिलचस्पी रखने वाले शोधकर्ताओं के लिए कई तरह के पुरस्कार शुरू कर रही है.

व्हाट्स एप के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, “व्हाट्स एप अपने उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा को लेकर गंभीर चिंता करता है. हम गलत जानकारी फैलाने के लिए ऑनलाइन मंच का उपयोग करने के तरीके के बारे में अधिक जानकारी हासिल करने के लिए भारत में अग्रणी विशेषज्ञों के साथ काम करने की ओर अग्रसर हैं.”