भारतीय महिला क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर मुसीबत में, जांच के दौरान ग्रैजुएशन की मार्कशीट निकली फर्जी

पंजाब के मोगा की रहने वाली अर्जुन अवार्ड से सम्मानित भारतीय महिला क्रिकेट टी-20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर की मुसीबत बढ़ती जा रही है. फर्जी डिग्री विवाद को लेकर मेरठ स्थित चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार जीपी श्रीवास्तव ने कहा कि बी.ए फाइनल मार्कशीट में जो रोल नंबर और एनरॉलमेंट नंबर दिए गए हैं, वह हमारे रिकॉर्ड में नहीं है. हरमनप्रीत कौर वर्तमान में पंजाब में डी.एस.पी पद पर तैनात हैं. हरमनप्रीत कौर ने ग्रैजुएशन का जो मार्कशीट जमा किया था वह जांच के दौरान फर्जी पाया गया.

पंजाब के मोगा की रहने वाली अर्जुन अवार्ड से सम्मानित हरमनप्रीत कौर को पंजाब पुलिस में 1 मार्च को डीएसपी के तौर पर शामिल किया गया था. डिग्री विवाद को लेकर यूनिवर्सिटी से जवाब मिल जाने के बाद पुलिस ने सभी जानकारी राज्य सरकार को भेज दी है. साथ ही पुलिस विभाग ने गृह विभाग को एक प्रस्ताव भेजा है, जिसमें कहा गया है कि हरमनप्रीत की डिग्री वैध ना होने की वजह से वह डीएसपी के पद पर नहीं बनी रह सकती हैं.

इस विषय पर जब हरमनप्रीत से जानकारी लेने की कोशिश की गई तो उन्होंने कहा कि अभी उन्हें कोई जानकारी नहीं मिली है. विभाग से बात होने के बाद ही वे इस विषय पर कुछ भी कहने की स्थिति में होंगी.

2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल में हरमनप्रीत ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 171 रन बनाए थे. विश्व कप के इतिहास में किसी भी भारतीय द्वारा बनाया गया यह सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर है. इस समय हरमनप्रीत महिला टी-20 टीम इंडिया की कप्तान हैं.