नेपाल में फंसे 104 कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्रियों को सुरक्षित निकाला,एक तीर्थयात्री की मौत

काठमांडू|…. तिब्बत में कैलाश मानसरोवर यात्रा पूरी करने के बाद वापस लौट रहे 1,500 से अधिक भारतीय नागरिक भारी बारिश और खराब मौसम के कारण नेपाल के हुमला जिले में स्थित सिमिकोट में फंस हुए है. जिनको बचाने का काम भारत सरकार ने शुरू कर दिया है.

नेपालगंज से सिमीकोट के बीच 7 विमान राहत एवं बचाव कार्य में जुट गए हैं. इस दौरान 104 कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. दो कमर्शियल विमान सिमीकोट पहुंच गए हैं, जहां 525 तीर्थयात्री फंसे हुए हैं. वहीं, हिल्सा से 104 तीर्थयात्रियों को सिमीकोट लाया गया.

लेकिन इस बीच एक तीर्थयात्री की नेपाल के हिल्सा में मौत हो गई. ग्रांथी सुब्बाराव नाम का ये तीर्थयात्री आंध्रप्रदेश के पूर्वी गोदावरी का रहना वाला था. उसका पार्थिव शरीर नेपालगंज लाया गया है. पोस्टमार्टम के बाद उसका शव परिजनों को उसके गृहनगर में सौंपा जाएगा.

ये है हॉट लाइन नंबर

नेपाल में भारतीय दूतावास ने तीर्थयात्रियों और उनके परिवार के लिए हॉट लाइन नंबर जारी किए है. ये नंबर हैः 977-9851107006,+977-9851155007,+977-9851107021, +977-9818832398।
इसके अलावा दूतावास ने अन्य भाषाओं में भी जानकारी के लिए नंबर जारी किए हैं जोकि इस प्रकार हैः- कन्नड़- +977-9823672371, तेलुगु- +977-9808082292, तमिल- +977-9808500642, मलयालम- +977-9808500644