वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा बने डीडीसीए के अध्यक्ष

साल 1983 में विश्व कप जीतने वाली क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे मदन लाल को हराकर वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने दिल्ली एवं जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के अध्यक्ष पद पर कब्जा जमा लिया है. डीडीसीए कार्यकारिणी के लिए 30 जून को चुनाव हुए थे.

अध्यक्ष पद के लिए चुनाव में रजत शर्मा को 1521 वोट मिले, वहीं पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी मदन लाल को 1004 वोट मिले. वह 517 वोटों से हार गए.

इसके अलावा, राकेश कुमार बंसल को डीडीसीए का नया उपाध्यक्ष निर्वाचित किया गया है. उन्हें चुनाव में कुल 1364 यानी 48.87 प्रतिशत वोट मिले.

खेल समिति के विनोद कुमार तिहारा ने 1374 वोटों के साथ डीडीसीए के सचिव पद को हासिल किया है. उन्हें इस पद के लिए मंजीत सिंह ने अच्छी टक्कर दी. मंजीत को कुल 998 वोट मिले थे.

डीडीसीए के संयुक्त सचिव के रूप में राजन मनचंदा को निर्वाचित किया गया है. वह पूर्व कोषाध्यक्ष रविंदर के छोटे भाई हैं. उन्हें कुल 1402 (50.23 प्रतिशत) वोट मिले.

मनचंदा ने 449 वोटों से चेतन चौहान के छोटे भाई पुष्पेंद्र चौहान को हराकर संयुक्त सचिव पद पर कब्जा जमाया. डीडीसीए के कोषाध्यक्ष के रूप में ओ.पी. शर्मा का चयन किया गया है. शर्मा को कुल 1365 (48.91 प्रतिशत) वोट मिले.

इसके अलावा, 1241 वोटों के साथ संजय भारद्वाज को डीडीसीए के प्रथम श्रेणी क्रिकेटर निदेशक चुना गया. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व टेस्ट खिलाड़ी सुरेंद्र खन्ना को इस पद के चुनाव में 479 वोट मिले. उनसे अधिक वोट इस पद के लिए अंजली शर्मा को मिले. अंजली को 891 वोट मिले. ऐसे में सबसे अधिक वोटों के साथ भारद्वाज ने इस पद को हासिल किया.

डीडीसीए की महिला निदेशक के रूप में रेनू खन्ना का चयन हुआ है. उन्होंने इस पद पर 1342 वोटों के साथ जीत हासिल की है. एसोसिएशन के पांच निदेशकों के रूप में आलोक मित्तल, अपूर्व जैन, नितिन गुप्ता, शिव नंदन शर्मा और सुधीर कुमार अग्रवाल को निर्वाचित किया गया. आलोक को 1325, अपूर्व को 1286, नितिन को 1291, शिव को 972 और सुधीर को 1095 वोट मिले.

डीडीसीए चुनाव पांच साल बाद आयोजित हुए. इससे पहले, साल 2013 में डीडीसीए के चुनाव हुए थे. इसमें वीरेंद्र सेहवाग, कीर्ति आजाद, बिशन सिंह बेदी, गौतम गंभीर जैसे बड़े दिग्गजों ने भी वोट डाले थे.