सर्जिकल स्ट्राइक के जारी विडियो पर कांग्रेस ने उठाये सवाल

रणदीप सुरजेवाला (फाइल चित्र)

सीमा पार आंतकी ठिकानों पर सितंबर 2016 को हुई सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो आने के बाद कांग्रेस ने आरोप लगाया कि फर्जी राष्ट्रवादी भाजपा हमारे जवानों की बहादुरी और बलिदान का राजनीतिक और चुनावी फायदा उठाने को आतुर है. पार्टी ने यह भी दावा किया कि मोदी सरकार एक तरफ तो जवानों की बहादुरी पर राजनीतिक रोटियां सेंकने की कोशिश कर रही है तो दूसरी तरफ वह सेना के बजट में कटौती और उसके साथ भेदभाव कर रही है.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि 28-29 सितंबर, 2016 की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने पाकिस्तान में आतंकियों के खिलाफ इस कार्रवाई का और हमारे देश के खिलाफ आतंकी मंसूबे नाकाम करने के लिए उठाए गए कदमों को लेकर भारतीय सेना और सरकार का संपूर्ण समर्थन किया था. उन्होंने कहा कि सत्ताधारी दल को याद रखना होगा कि हमारे साहसी सैनिकों के अमूल्य बलिदान को मोदी सरकार और भाजपा राजनीतिक लाभ के लिए वोट हासिल करने का साधन नहीं बना सकते.

सुरजेवाला ने कहा कि सच्चाई यह भी है कि सर्जिकल स्ट्राइक का राजनैतिक और चुनावी फायदा लेने के लिए आतुर भाजपा सरकार ने हर परंपरा और परिपाटी तोड़ दी. ये लोग फर्जी राष्ट्रवादी हैं जो सेना की बहादुरी पर राजनीतिक रोटियां सेंक रहे हैं. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार जय जवान, जय किसान के नारे का राजनीतिक इस्तेमाल करने के बाद अब सर्जिकल स्ट्राइक की वीर गाथा के जरिए को वोट हथियाने की शर्मनाक कोशिश कर रही है.

उन्होंने सवाल किया कि क्या मोदी सरकार देश की सुरक्षा के बुनियादी ढांचे को खतरे में नहीं डाल रही है? क्या मोदी सरकार सही उपकरण न देकर और बजट में कटौती कर देश के सैनिकों की जान जोखिम में नहीं डाल रही है? क्या मोदी सरकार देश के बहादुर सैनिकों की वीरगाथा का उपयोग राजनैतिक फायदे के लिए नहीं कर रही है? सुरजेवाला ने कहा कि एक तरफ मोदी सरकार और भाजपा देश के सैनिकों के बलिदान और सर्जिकल स्ट्राइक का राजनीतिक फायदा उठाने की हरसंभव कोशिश कर रही है, तो दूसरी तरफ वह पाकिस्तान के खिलाफ एक दृढ़ नीति और दिशा प्रदान करने और पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद को रोकने में पूरी तरह असफल रही है.