Happy Birthday : आज है खलनायकी के शहंशाह अमरीश पुरी का जन्म

अपनी दमदार आवाज, लंबा-चौड़े कद और डरावने कॉस्ट्यूम से सालों तक सिने प्रेमियों के दिलों में राज करने वाले जाने माने खलनायक अमरीश पुरी का आज 22 जून को जन्मदिन है. खलनायकी के शहंशाह अमरीश पुरी का जन्म पंजाब के नवांशहर में 22 जून 1932 को हुआ था. शिमला के बीएम कॉलेज से पढ़ाई करने के बाद उन्होंने एक्टिंग करने का फैसला किया. उनके दमदार डॉयलाग के सामने हीरो भी फीका पड़ जाता था.

बॉलीवुड में खलनायकी के सरदार अमरीश पुरी ने 30 साल से भी ज्यादा वक्त फिल्मों में काम किया. अमरीश पुरी के बेटे राजीव पुरी ने बताया कि पापा मुंबई हीरो बनने के सपने के साथ आए थे. उनके बड़े भाई मदन पुरी पहले से ही फिल्मों में थे लेकिन फिल्म निर्माताओं ने कहा कि तुम्हारा चेहरा हीरो बनने लायक नहीं है. इस बात को सुनकर वो थोड़े निराश हो गए थे.

जिसके बाद उन्होंने थियेटर में काम करना शुरू किया. अपनी दमदार एक्टिंग के दम पर उन्हें साल 1985 में रिलीज हुई फिल्म ‘मेरी जंग’ में काम मिला. इस फिल्म में उन्होंने जीडी ठकराल का किरदार निभाया. इस रोल के लिए उन्हें फिल्म फेयर में बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का अवॉर्ड दिया गया.

साल 1987 अमरीश पुरी के लिए काफी खास रहा. अनिल कपूर और श्रीदेवी की फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ में उन्होंने खतरनाक विलेन मोगैंबो का रोल निभाया. इस रोल ने उन्हें खलनायकों की दुनिया में अमर बना दिया. उनका दमदार डायलॉग ”मोगैंबो खुश हुआ” बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के जुबान पर चढ़ गया. आज भी ये डायलॉग काफी फेमस है.

अमरीश पुरी ने कई विदेशी फिल्मों में भी काम किया. फेमस डायरेक्टर स्टीवन स्पीलबर्ग की फिल्म में मोला राम का किरदार निभाने के कारण विदेशों में मोला राम से ही जानने लगे थे. स्पीलबर्ग हमेशा कहते थे कि अमरीश पुरी उनके पसंदीदा विलेन हैं.

1995 में आदित्य चोपड़ा की ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ में अमरीश पुरी का ने एक ऐसे बाप का किरदार निभाया था. उनका डायलॉग ‘जा सिमरन जी ले अपनी जिन्दगी’ काफी फेमस हुआ था.

12 जनवरी 2005 को ब्लड कैंसर होने की वजह से अमरीश इस दुनिया से चले गए. लेकिन आज भी उनकी यादें और दमदार डायलॉग हमारे दिलों में हैं.

कोको ने अपने जीवन का अधिकांश समय गोरिल्ला फाउंडेशन में ही बिताया. 2001 में अमेरिकी अभिनेता रॉबिन विलियम्स के साथ उसकी मुलाकात को फिल्माया गया था.

कोको ने वैज्ञानिको को 2012 में उस समय हैरान कर दिया, जब उसने दिखाया कि वह रिकॉर्डर बजाना सीख सकती है.