ज्योतिष शास्त्र: इस राशि में राहु और सूर्य बनाएगा ‘ग्रहण योग’, इन राशियों के लिए ये खतरनाक संकट

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य और राहु कर्क में ग्रहण योग बना रहे हैं. सूर्य और राहु का यह ग्रहण योग विध्वंसक माना जाता है. ज्योतिषाचार्य धनंजय पाण्डेय के अनुसार सूर्य और राहु की युति ग्रहण दोष बनाता है. कर्क राशि में राहु पहले से बैठे हैं और सूर्य का प्रवेश सूर्य और राहु की युति बनाएगी.

16 जुलाई 2018 को सूर्य कर्क राशि में जाने वाला है. 17 अगस्त तक सूर्य और राहु एक साथ एक ही राशि में रहेंगे जिससे 1 महीने तक 12 राशियां प्रभावित होंगी. ज्योतिष शास्त्र में ग्रहण योग बेहद नकारात्मक परिणाम को देता है.  नीचे जानिए क्या प्रभाव पड़ेगा आपकी राशि पर…

मेष-: ज्योतिषीय गणना के अनुसार मेष राशि के चौथे भाव में यह ग्रहण योग बनेगा. आपको इस ग्रहण योग की अवधि के दौरान पूर्ण सावधानी बरतने की आवश्यकता है. अन्यथा हो सकता है की आपको किसी बड़े अपयश का सामना करना पड़े. मेष राशि के जातकों के छोटे बच्चों के लिए दुर्घटना का योग बना रहा है. वाहन दुर्घटना या सीढ़ी से गिरने जैसी घटनाएं हो सकती हैं. इसलिए इस अवधि में पूरी सावधानी बरतें.

वृषभ-: वृषभ राशि के जातकों के लिए रहू का ग्रहण योग परेशान करेगा. मित्र, सगे सम्बन्धियों से धोखा मिल सकता है. नौकरी-पेशा वाले जातकों को नौकरी से भी हाथ धोना पड़ सकता है. धन लाभ के स्रोत और साधन प्रभावित हो सकता है. घर-परिवार में अनावश्यक परेशानी हो सकती है. इस ग्रहण योग की अवधि में आपको अपने नौकरी-पेशा को लेकर पूरी सतर्कता बरतनी चाहिए. अन्यथा बड़ा नुकसान हो सकता है.

मिथुन-: आपको पैसे से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. आपका धन कोई हड़प सकता है सावधान रहें. आपका धन चोरी हो सकता है. इसी के साथ आपको नेत्रों से संबंधित परेशानी आ सकती है इतना ही नहीं इस ग्रहण के दुष्प्रभाव से आपके नेत्रों की ज्योति तक जा सकती है. परिवार में अलगाव हो सकता है. यदि आप कम उम्र के हैं तो कोई अप्रिय समाचार परीक्षा संबंधी क्षेत्र में मिलेगा यानि आप फेल हो सकते हैं.

कर्क-: इस राशि में ग्रहण दोष बन रहा है. यदि आप बालक हैं तो आपका स्वास्थ प्रभावित हो सकता है और यदि आप शादीशुदा हैं तो महिला पुरुष दोनों के लिए अलग होने के प्रबल योग बन रहे हैं इसीलिए संयम से काम लें और ग्रहण के दौरान किसी भी तरह के झगड़े से बचें.

सिंह-: बच्चों के लिए ये ग्रहण शुभ नहीं होगा जरा सावधानी से दोस्त चुनें धोखे की प्रबल आशंका है. युवा और वृद्धों के लिए यात्रा के दौरान चोट लगने के योग बन रहे हैं.

कन्या-: इस युति के बनने से कन्या राशि में बुध, सूर्य और राहु साथ आ जाएंगे जिस वजह से इस राशि के लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. यदि आप इस दौरान कोई भी बड़ा निर्णय लेते हैं तो वो आपको नुकसान पहुंचाएगा. ये ग्रहण आपके लिए ठीक स्थिति पैदा नहीं करेगा. कन्या राशि की लड़कियों को सावधान रहना होगा, धोखा मिलने के प्रबल योग बन रहे हैं.

तुला-: तुला राशि के लिए ये स्थिति दशम भाव में बनेगी. बच्चों को अग्नि से खतरा हो सकता है, जलने की संभावना है. बड़ों की नौकरी छूट सकती है या जमीन को लेकर विवाद हो सकता है.

वृश्चिक-: चोट-चपेट, वाहन दुर्घटना की संभावना बन रही है. ये योग बच्चों के लिए प्रबल रहेगा जबकि विवाहित लोगों के लिए दांपत्य जीवन में हानि हो सकती है. जिन लोगों की शादी नहीं हुई है उनके लिए ये ग्रहण का योग ज्यादा नुकसानदेयी नहीं होगा लेकिन फिर भी यात्रा के दौरान सावधानी बरतें.

धनु-: इस राशि में पहले से ही शनि वक्री चल रहे हैं ऊपर से आठवें भाव में सूर्य और राहु का ग्रहण दोष बन रहा है. इस राशि के जातकों को पेट की दिक्कत हो सकती है यहां तक कि छोटी मोटी सर्जरी की नौबत तक आ सकती है. स्वास्थ पर काफी धन खर्च हो सकता है.

मकर-: सूर्य, बुध और राहु आपके सप्तम भाव में बैठेंगे. इस ग्रहण दोष की वजह से मकर राशि के बच्चों की माताओं को खतरा हो सकता है. स्वास्थ संबंधी सावधानियां बरतें. विवाहित लोगों के लिए यह दोष लड़ाई, झगड़ों का कारण बनेगा. वाणी पर संयम रहें.

कुम्भ-: छठे भाव में सूर्य राहु रहेंगे जिसकी वजह से गुप्त शत्रु आपको हानि पहुंचा सकते हैं. बच्चों की शिक्षा पर 1 महीने के लिए यह दोष बुरा प्रभाव डालेगा.

मीन-: इस राशि के लिए सूर्य राहु की उपस्थिति पंचम भाव में होगी. जिसके कारण ये दोष शिक्षा को प्रबलता से प्रभावित करेगा. शादीशुदा लोगों के लिए संतान भाव पीड़ित होगा साथ ही प्रेम संबंधों पर भी प्रभाव पड़ेगा. आपका प्रेमी या प्रेमिका से झगड़ा हो सकता है.

साभार-हरिभूमि