‘डिजिटल इंडिया’ ने दलाली खत्म कर नागरिकों को सशक्त बनाया : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि उनके ‘डिजिटल इंडिया फ्लैगशिप’ कार्यक्रम ने दलालों को हटाकर नागरिकों को सशक्त बनाने का काम किया है और शिक्षा, रोजगार, उद्यमिता और सशक्तीकरण को बढ़ावा दिया है. प्रधानमंत्री ने नमो एप के जरिए इस कार्यक्रम के लाभार्थियों से बात की. सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से बात करने का उनका यह चौथा कार्यक्रम रहा. इस कार्यक्रम को सोशल मीडिया साइट फेसबुक द्वारा स्ट्रीम किया गया.

मोदी ने लाभार्थियों से बातचीत के दौरान कहा,”हमने डिजिटल इंडिया को तकनीक के माध्यम से खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों द्वारा लाभ उठाना सुनिश्चित करने के लिए बेहद सरल फोकस के साथ लॉन्च किया.”

उन्होंने यह भी कहा कि इस पहल ने ज्यादा डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देकर क्रांति ला दी है और दलालों की दलाली करने की अवधारणा खत्म कर दी है.

उन्होंने कहा, “प्रौद्योगिकी के कारण, रेलवे टिकट ऑनलाइन बुक किए जा सकते हैं, बिल का भुगतान ऑनलाइन किया जा सकता है.. यह सब बेहतरीन सुविधा प्रदान करते हैं. हमने यह सुनिश्चित किया कि प्रौद्योगिकी के फायदे कुछ चुनिंदा लोगों तक ही सीमित नहीं रहे, बल्कि वे समाज के सभी वर्गों तक पहुंचे. हमने कंप्यूटर साइंस कॉर्पोरेशंस के नेटवर्क को मजबूत किया है.”

मोदी ने यह भी कहा कि यह योजना ग्रामीण इलाकों विशेष रूप से पूर्वोत्तर में डिजिटल बदलाव लाने का प्रमुख साधन रही है.

उन्होंने कहा, “हमारी पूर्वोत्तर बीपीओ प्रमोशन स्कीम (एनईबीपीएस) के तहत हम न केवल शहरों में बल्कि पूर्वोत्तर में युवाओं को रोजगार भी उपलब्ध करा रहे हैं. भारत बीपीओ पदोन्नति योजना और पूर्वोत्तर के लिए एक अलग बीपीओ प्रोत्साहन योजना इस क्षेत्र से संबंधित नए अवसर पैदा कर रही हैं.”