कैंची धाम के बाबा नीम करौली महाराज धाम की स्थापना दिवस के चलते ये रहेगा ट्रैफिक प्लान

उत्तराखंड के नैनीताल जिले में आगामी 15 जून को कैंची धाम के बाबा नीम करौली महाराज धाम की स्थापना दिवस है. इस दौरान यहां आने वाले श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत न हो इसके लिए इसके लिए पुलिस ने खास इंतजाम किए हैं. वहीं यहां लगने वाले मेले के दौरान पुलिस ने यातायात प्लान के तहत पिछले सालों की तरह इस साल भी व्यवस्था लागू की है. इसमें हल्द्वानी से अल्मोड़ा जाने वाली गाड़ियों को खुटानी से वाया रामगढ़ भेजा जाएगा, वहीं रानीखेत जाने वाली सभी गाड़ियों को भवाली से वन-वे के साथ निकाला जाएगा.

इसी के साथ अल्मोड़ा से हल्द्वानी आने वाले वाहनों के लिए भी वाया रामगढ़ भेजने की व्यवस्था की गई है. साथ ही कैंची धाम के आस पास जाम की स्थिति न बने इसके लिए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है. भवाली और खैरना में पार्किंग निर्माण किया गया है, जहां से शटल सेवा से श्रद्धालुओं को कैंची धाम भेजने की योजना है. बता दें कि बाबा नीम करौली धाम के स्थापना दिवस पर कैंची में हर साल लाखों लोग पहुंचते हैं. मंदिर की मान्यता है कि इस स्थान से देश और दुनिया के कई लोगों को कामयाबी का रास्ता मिला है.

गौरतलब है कि उत्तराखंड में कुमाऊं मंडल के नैनीताल जिले में अल्मोड़ा, भवाली, रानीखेत राष्ट्रीय राजमार्ग में स्थित कैंची धाम लाखों लोगों की आस्था और विश्वास का केंद्र है. यह धाम 20वीं शताब्दी में जन्मे दिव्य पुरुष बाबा नीम करौली जी की पावन भूमि है. 15 जून 1964 को पहली बार उन्होंने यहां पर हनुमान जी की मूर्ति को विधिवत स्थापित किया था. इसीलिए हर साल 15 जून को प्रतिष्ठा दिवस या स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है.