सीएम केजरीवाल का धरना प्रदर्शन पांचवें दिन भी जारी, कई राजनीति पार्टियों ने किया समर्थन

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी कैबिनेट के तीन मंत्रियों का केंद्र सरकार से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलने के बावजूद उपराज्यपाल अनिल बैजल के कार्यालय में धरना शुक्रवार को भी जारी है. केजरीवाल, सिसोदिया, सत्येंद्र जैन और गोपाल राय उपराज्यपाल अनिल बैजल के आधिकारिक निवास व कार्यालय राज निवास में सोमवार शाम से धरना दे रहे हैं.

केजरीवाल व उनके नेता अपनी तीन मांगों को लेकर धरने पर हैं, जिनमें दिल्ली प्रशासन में काम कर रहे आईएएस अधिकारियों को उनकी हड़ताल खत्म करने का निर्देश देना और गरीबों को उनके दरवाजे पर जाकर राशन वितरित करने के सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी देने व उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग शामिल है, जो चार महीनों से सरकार के काम में अड़ंगा लगा रहे हैं.

वहीं, मंगलवार से भूख हड़ताल पर बैठे स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले पर हस्तक्षेप करने का आग्रह किया.

जैन ने ट्वीट कर कहा, “हम चार रातों से उपराज्यपाल के कार्यालय में इंतजार कर रहे हैं लेकिन वह केवल चार मिनट का समय तक नहीं निकाल पा रहें. उम्मीद है कि प्रधानमंत्री इस मामले पर हस्तक्षेप करेंगे.” राय ने भी ट्वीट कर कहा, “उन्हें उम्मीद है कि मोदी दिल्ली के लोकतंत्र की फिटनेस की फिक्र करेंगे.”

केजरीवाल ने कहा, “उपराज्यपाल की ओर से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है. मैंने उनसे बैठक के लिए समय मांगा था. मैंने प्रधानमंत्री से भी इस मामले को देखने का आग्रह किया लेकिन उनकी ओर से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई.”

बता दें कि अनिल बैजल के कार्यालय से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलने पर गुरुवार को केजरीवाल ने एक पत्र में आईएएस अधिकारियों की हड़ताल समाप्त कराने के लिए मोदी के हस्तक्षेप की मांग की थी.

पार्टी के सदस्यों ने एक वीडियो पोस्ट किया था जिसमें मोदी से आईएएस अधिकारियों को वापस काम पर लाने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया था. सूत्रों के अनुसार, अनिल बैजल सोमवार से अपने निवास से ही कामकाज कर रहे हैं.

कई राजनीति पार्टियां जैसे माकपा व अन्य हस्तियों ने अपना केजरीवाल के प्रति समर्थन जताया है, जिसमें उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, अभिनेता से नेता बनें कमल हासन और शत्रुघन सिन्हा शामिल हैं.

इसके अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, राष्ट्रीय जनता दल के मनोज झा और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा पहले ही अपना समर्थन दे चुके हैं.