मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने किया ‘फ्लैग-इन समारोह’में प्रतिभाग, माउंट एवरेस्ट पर गए उत्तराखण्ड पुलिस दल को किया सम्मानित

उत्तराखण्ड पुलिस दल के माउण्ट एवरेस्ट पर्वतारोहण अभियान, 2018 के सफल आरोहण के उपरान्त ‘फ्लैग-इन समारोह’में प्रतिभाग करते मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को पुलिस लाईन देहरादून में उत्तराखण्ड पुलिस दल के माउण्ट एवरेस्ट पर्वतारोहण अभियान, 2018 के सफल आरोहण के उपरान्त ‘फ्लैग-इन समारोह’में प्रतिभाग किया. माउंट एवरेस्ट पर्वतारोहण के लिए गये उत्तराखण्ड पुलिस के 15 सदस्यों के दल को मुख्यमंत्री ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया. माउंट एवरेस्ट पर उत्तराखण्ड पुलिस दल के जिन 08 सदस्यों ने सफलतापूर्वक आरोहण किया उनमें से 06 आरक्षी, एक निरीक्षक तथा एक मिनी फायरमैन शामिल हैं. मुख्यमंत्री ने इन 06 आरक्षियों को मुख्य आरक्षी के पद पर पदोन्नति एवं निरीक्षक तथा मिनी फायरमैन को एक-एक वैयक्तिक वेतन वृद्धि की घोषणा की. माउंट एवरेस्ट आरोहण के लिए गये दल को पांच लाख रूपये देने की घोषणा भी की. जिन आरक्षियों को पदोन्नति दी जायेगी उनमें विजेन्द्र प्रसाद काला, मनोज जोशी, सूर्यकान्त उनियाल, विजेन्द्र कुड़ियाल, प्रवीण सिंह, योगेश रावत शामिल हैं. जबकि निरीक्षक संजय उप्रेती एवं मिनी फायरमैन रवि चैहान को वेतन वृद्धि दी जायेगी.

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड पुलिस दल ने माउंट एवरेस्ट पर सफल आरोहण कर एक ऐतिहासिक कार्य किया है. उत्तराखण्ड पुलिस का दल देश का ऐसा पहला पुलिस दल है, जिसने माउंट एवरेस्ट पर सफल आरोहण किया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश को अनुभवी और हिम्मत वाले जवानों की हमेशा आवश्यकता रहेगी. इस तरह के अभियानों में प्रतिभाग कर जवानों का हौंसला बढ़ता है और नये अनुभव प्राप्त होते हैं. इस तरह के अभियान समय-समय पर चलाने जरूरी हैं. उत्तराखण्ड पर्वतीय राज्य होने के साथ ही आपदा के दृष्टि से संवेदनशील राज्य है. राज्य में आपदा प्रबन्धन के लिए तकनीक के विकास के साथ ही प्रशिक्षित लोगों का होना जरूरी है. इसके लिए राज्य सरकार हर सम्भव प्रयास कर रही है.

मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने उत्तराखण्ड पुलिस दल को माउंट एवरेस्ट पर सफल आरोहण पर बधाई देते हुए कहा कि जवानों के दृढ़ निश्चय एवं आत्मविश्वास की वजह से अभियान सफल रहा. उत्तराखण्ड में कार्य करने के लिए अपार सम्भावनाएं हैं, यहां के लोगों में बहुत क्षमता है. उन्होंने कहा कि पुलिस के इस दल ने टीम स्प्रिट का संदेश दिया है. हमें जनता की सेवा के लिए भी टीम स्प्रिट की भावना से कार्य करना होगा.

पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी ने कहा कि सीमित संसाधन होने के बावजूद भी उत्तराखण्ड पुलिस दल ने दुनिया की सबसे ऊँची चोटी पर आरोहण कर प्रदेश एवं उत्तराखण्ड पुलिस का गौरव बढ़ाया है. उन्होंने कहा कि ऐसे साहसिक अभियान के बाद जवानों को जो अनुभव प्राप्त हुए हैं, उससे निश्चित रूप से भविष्य में फायदा होगा. उन्होंने इस अभियान को सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री एवं शासन के अधिकारियों का आभार भी व्यक्त किया. इस अवसर पर विधायक मुन्ना सिंह चैहान, अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव गृह आनन्द वर्द्धन, सचिव वित्त अमित नेगी, अपर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार, आर.एस.मीणा, माउंट एवरेस्ट पर्वतारोहण दल के लीडर संजय गुंज्याल, डिप्टी लीडर नवनीत सिंह आदि उपस्थित थे.