प्रकाश राज ने ‘काला’ के समर्थन में बोलते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा

दो राज्यों के बीच चल रहे कावेरी जल विवाद ने साउथ सुपरस्टार रजनीकांत की फिल्म काला को भी अपनी चपेट में ले लिया है. काला फिल्म विवाद पर अभिनेता प्रकाश राज का बड़ा बयान सामने आया है. प्रकाश राज ने काला के समर्थन में बोलते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है. प्रकाश राज ने कहा कि हमेशा फिल्मों को ही क्यों टारगेट किया जाता है? उन्होंने आगे कहा कि कावेरी जल विवाद 2 राज्यों का विवाद है. इममें फिल्म को बीच में क्यों लाया गया. आखिर हमेशा फिल्मों को ही क्यों फसाया जाता है?

प्रकाश राज ने आगे कहा कि कर्नाटक फिल्म चैंबर ने फिल्म पर प्रतिबंध लगाने के लिए नहीं कहा है. लेकिन दबाव को देखते हुए वितरकों और प्रदर्शकों ने अपनी स्वेच्छा से काला फिल्म को रिलीज नहीं करने का फैसला किया है. उन्होंने आगे कहा कि अब सब कुछ केन्द्र और राज्य सरकारों के हाथों में है.

प्रकाश राज ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा क्या कांग्रेस और जेडीएस काला के साथ वहीं होने देंगी जो भाजपा ने पद्मावत के साथ किया था? उन्होंने कहा कि कोई भी फिल्म या किसी भी प्रकार की कला लोगों के लिए नरम लक्ष्य नहीं होना चाहिए. आज के समय में विरोध का मुद्दा जो भी हो पर लोगों द्वारा विरोध करने के लिए सबसे पहले फिल्म या कला ही आसान लक्ष्य होता है. उन्होंने कहा कि लोग विरोध कर सकते है पर फिल्मों को रिलीज करने से नहीं रोक सकते.

गौरतलब है कि रजनीकांत की फिल्म काला 7 जून को रिलीज होगी. पर यह फिल्म कर्नाटक में रिलीज नहीं होगी. दरअसल कावेरी मुद्दे पर बोलते हुए रजनीकांत ने कहा था कि कावेरी जल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश निराशाजनक है. आदेश के अनुसार तमिलनाडु को मिलने वाले पानी का मात्रा को कम कर दिया गया है. रजनीकांत ने कहा था कि राज्य सरकार को कोर्ट में समीक्षा याचिका दायर करनी चाहिए.

रजनीकांत के इस बयान के बाद ही 10 कन्नड़ समूहों ने फिल्म को बैन करने की मांग की. जिसके बाद कर्नाटक फिल्म चेंबर ऑफ कॉमर्स ने काला पर बैन लगा दिया था.