अफगानिस्तान : मौलवियों की एक सभा पास आत्मघाती विस्फोट, 14 की मौत

सोमवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में मौलवियों की एक सभा पास आत्मघाती विस्फोट हुआ, जिसमें कम से 14 लोगों की मौत हो गई और 17 लोग घायल हो गए हैं. आत्मघाती हमले में मरने वालो में 7 धार्मिक गुरू और 4 सुरक्षाकर्मी हैं. अन्य तीन लोगों के पहचान नहीं हो पाई.

इस हमले से कुछ ही देर पहले मौलवियों ने इस तरह के हमलों को पाप करार दिया था. काबुल में पुलिस के प्रवक्ता हश्मत स्तानिकजई ने कहा कि हमारी प्राथमिक सूचना बताती है कि आत्मघाती हमला तब हुआ जब मेहमान सभागार से बाहर निकल रहे थे.

यह घटना सोमवार करीब साढ़े ग्यारह बजे थी. काबुल के पुलिस प्रमुख दाऊद अमीन ने मीडिया को बताया कि विस्फोट में 14 लोगों की मौत हो गई और 17 व्यक्ति घायल हुआ है. वहीं , गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने बताया कि इस हादसे में कम से कम 12 लोग मारे गए हैं या घायल हुए हैं.

लेकिन अभी इस बारे में अधिक जानकारी नहीं है. स्तानिकजई ने बताया कि हमलावर ने आयोजन स्थल के बाहर खुद को उड़ा लिया, जहां बड़े मौलवी और सरकारी अधिकारी इकट्ठा हुए थे.

स्थानीय मीडिया ने बताया कि उलेमा काउंसिल की बैठक में करीब 3000 मौलवी इकट्ठा हुए थे. यह अफगानिस्तान के शीर्ष मौलवियों की संस्था है. इससे पहले, उन्होंने देश में चल रहे संघर्ष के खिलाफ फतवा जारी किया था और इस तरह के हमलों को इस्लाम विरोधी करार देते हुए पाप बताया था.