डीएम ने सम्बन्धित अधिकारियो से नैनीताल शहर हेतु वैकल्पिक पेयजल व्यवस्था तलाशने को कहा

कैम्प कार्यालय में जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन ने बैठक लेते हुये नैनीझील पर पेयजल निर्भरता कम करने हेतु पेयजल के वैकल्पिक व्यवस्थायें तलाशने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियो को दिये. सुमन ने कहा कि वर्षभर नैनीझील में जल संग्रहीत रहे व नैनीझील के अलावा और ऐसे पानी के स्रोत, गौला, कोसी, कैंची गधेरे से नैनीताल शहर हेतु पेयजल की उपलब्धता तलाशने के निर्देश जल निगम, जल निगम एडीबी, जलसंस्थान व सिचाई विभाग के अधिकारियों को दिये.

गत दिवस राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी द्वारा जिलाधिकारी को भविष्य मे नैनीझील के गिरते जलस्तर के साथ ही नैनीताल शहर मे पानी कि दिक्कतो को देखते हुये नैनीताल शहर हेतु वैकल्पिक पेयजल व्यवस्था तलाशने को कहा गया था.

जिस पर जिलाधिकारी ने शनिवार को सम्बन्धित अधिकारियो को नैनीताल शहर के आसपास जल स्रोतों से व नदियों से पम्पिंग पेयजल योजना की सम्भावनायें तलाशने के निर्देश दिये. बैठक मे अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान सुनील तिवारी, एसके उपाध्याय, सिचाई हरीश चन्द्र सिह,एडीबी व जल निगम के अधिकारी मौजूद थे.

जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन रविवार 3 जून को रामनगर नगर पालिका सभागार में व्यापारियों से वार्ता करेंगे एवं जनता की समस्याये सुनेंगे.

शनिवार हल्द्वानी कार्य दिवस पर जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन ने कैम्प कार्यालय मे जनसमस्यायें सुनी. एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था द्वारा ज्ञापन के माध्यम से कहा कि महिला चिकित्सालय हल्द्वानी मे मरीजो के पर्याप्त बैड सुविधायें नही हो पा रही है जिस कारण मरीजो को फर्श में लेटना पडता है. उन्होने महिला चिकित्सालय मे नवनिर्मित चिकित्साल भवन को शीघ्र प्रारम्भ करने की मांग रखी. शीशमहल क्षेत्र वासियों द्वारा श्रीराम गैस्ट हाउस की छत पर मोबाइल टावर स्थापित करने का विरोध करते हुये तुरन्त टावर को हटवाने का अनुरोध किया.

जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी एवं नगर निगम के अधिकारियों को  कार्यवाही करने के निर्देश दिये. इन्दिरा नगर वासियो ने ट्रंचिंग ग्राउन्ड से लगातार धुआं व बदबू से क्षेत्रवासियों को हो रही परेशानी से अवगत कराते हुये ट्रंचिंग ग्राउन्ड कूडे के ऊपर पानी छिडकाव के साथ ही मिट्टी डालने का अनुरोध किया.

जिस पर जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त को कार्यवाही के निर्र्देश दिये गये. डीएस दुर्गापाल द्वारा लिखित पुस्तिका मुखातिफ अक्षर के अल्फाज नामक पुस्तिका का जिलाधिकारी द्वारा विमोचन किया गया. पुस्तक मे पाठकों के ज्ञानवर्धन हेतु उर्दू,हिन्दी और अंग्रेजी भाषाओ के 10,000 से अधिक शब्दो का शाब्दिक अर्थो का समावेश किया है.