अगर प्राप्त करनी हैं धन की देवी लक्ष्मी की विशेष कृपा, तो घर में रखें ये चीजें

धन-वैभव पाने की इच्छा प्रत्येक मनुष्य के भीतर होती है. धन-धान्य की प्रप्ति के लिए व्यक्ति हर संभव प्रयास भी करता है. लेकिन हर किसी को लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त नहीं होती है.

शास्त्रों में वर्णन मिलता है कि लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए उन्हें प्रसन्न करना सबसे अच्छा उपाय माना जाता है. इसके अलावा धन की देवी लक्ष्मी की विशेष कृपा पाने लिए घर में 5 चीजों का होना आवश्यक माना गया है.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि घर में इन 5 चीजों को रखा जाए तो लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं. नीचें जानिए इन 5 चीजों के बारे में…

घी का दीपक-: माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए घर में नियमित तुलसी के समक्ष घी का दीपक जलाना चाहिए. यह दीपक चौमुखी हो तो और भी शुभ और उत्तम होगा. इसे सफेद धातु या मिट्टी के दीपक में जलाना चाहिए. शाम के समय पूजा स्थल पर घी का दीपक जलाने से घर में धन का अनावश्यक खर्च नहीं होता है.

शंख-: पौराणिक मान्यताओं के अनुसार शंख को लक्ष्मी का भाई माना गया है. ऐसा माना जाता है कि जहां शंख होता है वहां लक्ष्मी का वास होता है. किसी भी मांगलिक कार्य में शंख बजाना शुभ माना जाता है. वैसे तो शंख कई प्रकार के होते हैं परंतु दक्षिणावर्ती शंख अत्यधिक शुभ होता है. घर के पूजा स्थान पर सफेद शंख रखने और प्रयोग करने से लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है.

स्फटिक की माला-: ज्योतिष शास्त्र में स्फटिक को शुक्र ग्रह से जोड़कर देखा गया है. शुक्र ग्रह धन-वैभव और विलासिता का कारक ग्रह होता है. इसलिए स्फटिक की माला घर में रखने से धन की कमी नहीं रहती है. मां लक्ष्मी के मंत्रों का जाप स्फटिक की से करना शुभ फलदायक होता है.

गुलाब-: धार्मिक मान्यता के अनुसार गुलाब का फूल और गुलाब की सुगंध दोनों मन लक्ष्मी को प्रिय है. प्रतिदिन मां लक्ष्मी को इत्र या गुलाब अर्पित करने से कारोबार में तरक्की होती है. इसके अलावा गुलाब की पत्तियों से देवी लक्ष्मी का अभिषेक करने पर कर्ज दूर होता है. प्रत्येक शुक्रवार मां लक्ष्मी को गुलाब की माला अर्पित करने से घर में दरिद्रता नहीं आती है.

भगवान विष्णु-: बिना विष्णु के मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त नहीं हो सकती है. इसलिए घर के पूजा स्थल पर भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी मूर्ति अथवा चित्र स्थापित करना चाहिए. साथ ही प्रतिदिन इनकी पूजा करनी चाहिए. ऐसा करने से घर के सदस्यों को धन का लाभ होता है. साथ ही परिवार के मुखिया के आय का स्रोत और भी अधिक मजबूत होता है.