गोरखपुर स्पेशल टास्क फोर्स ने मुन्ना बजरंगी गैंग के दो शूटर्स को किया गिरफ्तार

गोरखपुर स्पेशल टास्क फोर्स ने मुन्ना बजरंगी गैंग के दो शूटर्स को गिरफ्तार किया है. इन शूटरों से बड़ी संख्या में हथियार बरामद किए गए हैं. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, गोरखपुर स्पेशल टास्क फोर्स ने मुन्ना बजरंगी गैंग के उन दो शूटर्स को गिरफ्तार किया है जिनमें प्रत्येक के सिर पर 30,000 रुपये का इनाम रखा गया था. इन आरोपियों से दो पिस्टल, बुलेट, मोबाइल और एक मोटरसाइकिल बरामद की गई है.

सुपारी किंग के नाम से चर्चित मुन्ना बजरंगी का असली नाम प्रकाश सिंह है. उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के पूरेदयाल गांव में जन्म मुन्ना बजरंगी ने पांचवी की कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी. किशोर अवस्था में पहुंचते-पहुंचते कई ऐसे शौक लग गए जो उसे जुर्म की दुनिया का बड़ा सरगना बनाने के लिए काफी थे.

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो मुन्ना को हथियार रखने का बड़ा शौक था. वह फिल्मों की तरह एक बड़ा गैंगेस्टर बनना चाहता था. यही वजह थी कि 17 साल की नाबालिग उम्र में ही उसके खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया.

जौनपुर के सुरेही थाना में उसके खिलाफ मारपीट और अवैध असलहा रखने का मामला दर्ज किया गया था. इसके बाद मुन्ना ने कभी पलटकर नहीं देखा. वह जरायम के दलदल में धंसता चला गया. अस्सी के दशक में पहली हत्या के साथ ही वह सुर्खियों में आ गया था.