उत्तराखंड : मंदिर में दर्शन को आए मुस्लिम युवक को भीड़ ने घेरा, सिख पुलिस वाले ने बचाई जान

उत्तराखंड के रामनगर में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. जहां एक पुलिस वाले ने इंसानियत की मिसाल पेश की. रामनगर के गिरिजा मंदिर में दर्शन करने एक हिंदू-मुस्लिम कपल को लोगों की भीड़ ने घेर लिया. जिसके बाद वहां मौजूद सिख पुलिस वाले ने उनकी जान बचाई.

मामला रामनगर के गर्जिया मंदिर क्षेत्र का है. घटना 22 मई की बताई जा रही है. जिम कॉर्बेट पार्क के रास्ते में गर्जिया माता का मंदिर है. यहां नदी के किनारे एक हिन्दू लड़की और एक मुस्लिम लड़के को धार्मिक संगठनों के लोगों ने पकड़ लिया और युवक की पिटाई कर दी. ये लोग दोनों को मंदिर परिसर में ले आए और हंगामा करने लगे. लड़के के मुस्लिम होने का पता लगने पर भीड़ भी बेकाबू हो गई. कुछ लोग वहां आए उन्होंने लड़के को पीटना शुरू कर दिया. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को संभालने की कोशिश शुरू की. पुलिस टीम में दरोगा गगनदीप भी शामिल थे.

गगनदीप ने भीड़ को हटाते हुए युवक को वहां से बचाया. दारोगा गगनदीप को बीच में आता देख भीड़ में शामिल धार्मिक संगठनों के लोग भड़क गए वह युवक को उन्हें सौंपने की बात कहते रहे. ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मी ने बहादुरी और सूझबूझ के साथ इस पूरे घटना को संभाला. वह भीड़ से सुरक्षित बचाकर युवक को अपने साथ कोतवाली ले आए, जहां उसे पुलिस सुरक्षा में रखा गया. दारोगा गगनदीप सिंह के वीडिया और फोटो खूब वायरल हो रहे हैं. सब पुलिस ऑफिसर गगनदीप की दिलेरी की सलाम कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि इस तरह से भीड़ द्वारा किसी पर हमला करना गलत है. अगर कोई आरोपी है कि पुलिस का काम उसे सजा दिलाना है.

गर्जिया मंदिर परिसर में बजरंग दल और विहिप कार्यकर्ताओं ने पिछले दिलों जमकर हंगामा किया था. इन्होंने मंदिर के प्रवेश गेट पर तालाबंदी कर दी थी और सैकड़ों श्रद्धालुओं को अंदर नहीं जाने दिया था. प्रवेश द्वार पर हंगामा कर रहे बजरंग दल व विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं को हटाने गई पुलिस के साथ भी कार्यकर्ताओं की धक्का-मुक्की की थी. इससे वहां पर तीन घंटे तक बवाल रहा. बाद में एसडीएम के समझाने पर मामला शांत हुआ था. इन संगठनों का आरोप है कि मंदिर परिसर में असामाजिक तत्व माहौल बिगाड़ रहे हैं. उनकी हरकतों से श्रद्धालु परेशान हैं.

बताया जा रहा है कि काशीपुर में 12वीं में पढ़ने वाली युवती को दूसरे समुदाय का युवक अपने साथ गर्जिया मंदिर लाया था. पुलिस ने इनके परिजनों को कोतवाली में बुलाया. युवती की मां ने कोतवाली पहुंचते ही हंगामा खड़ा कर दिया. उसने अपनी बेटी को जमकर पीटा. आरोपी युवक को पीटने पर आमादा युवती की मां ने पुलिस से उसे बाहर निकालने को कहा. उसने बताया कि उसकी बेटी 12 वीं की छात्रा है. सुबह वह स्कूल ड्रेस पहनकर घर से निकली थी.