‘अमेरिका अब भी 12 जून को ट्रंप-किम बैठक की तैयारी कर रहा है’

वाशिंगटन|…. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने मंगलवार को कहा कि अमेरिका सरकार 12 जून को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग-उन के बीच होने वाले बैठक की तैयारी में लगी हुई है. विदेश विभाग में संवाददाता सम्मेलन के दौरान पोंपियो ने इस मामले में ट्रंप के उलट बयान दिया.

ट्रंप ने इससे पहले कहा था, “इस बात की बहुत ठोस उम्मीद है कि सिंगापुर में 12 जून को होने वाले शिखर सम्मेलन का आयोजन न हो. कुछ शर्त है जिसे हम चाहते हैं. मुझे लगता है कि हम उन शर्तो को पा लेंगे. अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम सम्मेलन में भाग नहीं लेंगे. अगर यह अभी नहीं हुआ तो हो सकता है यह बाद में हो. हो सकता है यह किसी अन्य समय में हो. हम देखेंगे. हम बातचीत कर रहे हैं.”

लेकिन, पोंपियो ने एक संवादादाता के सवाल के जवाब में कहा, “हम तैयारी कर रहे हैं. हम लगातार अपना काम कर रहे हैं और एक सफल बैठक की बुनियाद रख रहे हैं. मुझे विश्वास है कि यह बैठक होगी.”

हाल के हफ्तों में दो बार किम से मुलाकात कर चुके पोंपियो ने कहा कि मैं इस बात के लिए ‘आशावादी’ हूं कि यह ऐतिहासिक बैठक जरूर होगी. पोंपियो ने कहा, “हम इस बात को सुनिश्चित करने के लिए कार्य कर रहे हैं कि बैठक के दौरान मुद्दों को लेकर साझा समझ विकसित हो, लेकिन मैं आशावादी हूं.”

उत्तर कोरिया ने पिछले हफ्ते कहा था कि ट्रंप के साथ बैठक खतरे में है, क्योंकि व्हाइट हाउस प्योंगयांग पर एकतरफा ‘निरस्त्रीकरण’ का दबाव डाल रहा है. ट्रंप ने कहा है कि अगर किम अपने देश के परमाणु हथियार कार्यक्रम को समाप्त करने के लिए तैयार हो जाते हैं तो उन्हें सत्ता के लिए ‘सुरक्षा’ प्रदान की जाएगी. ट्रंप ने इस बार बातचीत असफल होने की स्थिति में उत्तर कोरिया को दी गई पहले की धमकी को नहीं दोहराया जिसमें उन्होंने उत्तर कोरिया को तबाह करने की धमकी दी थी.

उन्होंने यह भी कहा कि अगर वाशिंगटन और प्योंगयांग एक समझौते पर पहुंच जाते हैं तो चीन, जापान और दक्षिण कोरिया, उत्तर कोरिया में निवेश करेंगे और ‘उत्तर कोरिया को महान बनाएंगे.’