केरल : अब तक निपाह वाइरस से 16 लोगों की मौत

केरल के कोझीकोड जिले में अब तक निपाह वाइरस से 16 लोगों की मौत हो गई है. मृतकों में एक ही परिवार के चार लोग और इलाज में लगी एक नर्स भी शामिल हैं. चार की हालत गंभीर है. 25 लोगों को निगरानी में रखा गया है.
इस बीच पुणे वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट ने खून के तीन नमूना में निपाह वायरस होने की पुष्टि की है.

केरल सरकार की गुहार पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गठित चिकित्सकों का उच्च स्तरीय दल वहां पहुंच गया है. राज्य की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने बताया कि पिछले एक पखवाड़े में जिन चार लोगों की मौत हुई है, वे एक ही परिवार के हैं. इनमें से दो भाई थे और उनकी आयु 20 साल से अधिक थी.

स्वास्थ्य मंत्री शैलजा और श्रम मंत्री टी पी रामकृष्णन ने अधिकारियों के साथ चर्चा की और आश्वासन दिया कि सरकार ने विषाणु के प्रसार को रोकने के लिये सभी जरूरी कदम उठाए हैं
.
राज्य पहली बार इस विषाणु से प्रभावित हुआ है. नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल का एक उच्चस्तरीय दल पहले ही हालात का जायजा लेने के लिये कोझीकोड जिले में पहुंच गया है. राज्य को हाई अलर्ट पर रखा गया है और यहां दो नियंत्रण कक्ष खोले गए हैं.

क्या है निपाह वाइरस
निपाह वाइरस पशुओं से मनुष्य में फैलता है. इससे पशु और मनुष्य दोनों गंभीर रूप से बीमार हो सकते हैं. इस विषाणु के स्वाभाविक वाहक फ्रूट बैट (चमगादड़) हैं. एक चमगादड़ मृतकों के घर के कुएं में पाया गया था. उसे अब बंद कर दिया गया है.