बहुमत परीक्षण से पहले कर्नाटक सचिवालय किले में तब्दील

कर्नाटक में शनिवार को हो रहे महत्वपूर्ण बहुमत परीक्षण से पहले कर्नाटक सचिवालय की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और यहां अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है. पुलिस महानिदेशक नीलमणि राजू ने कहा, “विधानसभा में बहुमत परीक्षण की कार्यवाही सुचारु रूप से हो, इसके लिए सचिवालय और आस-पास के विधायक आवासों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.”

शहर पुलिस ने यहां धारा 144 लगा दी है और पूरे दिन के लिए कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सचिवालय के एक किलोमीटर के दायरे में पांच या इससे ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदी लगा दी है.

सुप्रीमकोर्ट की तीन सदस्यीय पीठ के आदेशानुसार अपराह्न् चार बजे बहुमत परीक्षण में भाग लेने वाले सभी विधायकों को सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त बी.के.सिंह ने इससे पहले पत्रकारों से कहा, “हमने किसी भी अवांछित घटना से बचने के लिए बहुमत परीक्षण स्थल के आसपास पांच पुलिस उपायुक्तों(डीसीपी), 20 सहायक पुलिस आयुक्तों(एसीपी), 40 निरीक्षकों और 2000 सिपाहियों को तैनात कर रखा है.”

पुलिस ने क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा), कांग्रेस और जनता दल (सेकुलर) के समर्थकों और कार्यकर्ताओं को जुलूस या रैली निकालने पर भी प्रतिबंध लगाया है.