असम में बीजेपी विधायक को मिला संदिग्ध नागरिक होने का नोटिस

असम के बरखोला विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक और उनके परिवार के सदस्यों को विदेशी नागरिकों से संबंधित ट्रिब्यूनल ने नोटिस जारी किया है. ट्रिब्यूनल ने ये नोटिस संदिग्ध नागरिक होने के संदेह में जारी किया है. बता दें कि ट्रिब्यूनल ने बीजेपी विधायक किशोर नाथ, उनकी पत्नी नीलिमा नाथ, उनके चार भाइयों और एक अन्य रिश्तेदार को नोटिस जारी किया है.

नोटिस के अनुसार किशोर नाथ और उनके परिवार के सदस्यों को कहा गया है कि वे ट्रिब्यूनल के जज के सामने पेश होकर साबित करें कि वे लोग भारत के नागरिक हैं. विधायक ने कहा कि वह और उनका परिवार भारत के मूल निवासी हैं और वो अपनी नागरिकता साबित करने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे. सूत्रों ने बताया कि नाथ ने विधानसभाध्यक्ष को इस नोटिस से अवगत करा दिया है.

किशोरनाथ ने कहा कि वो और उनका परिवार भारत के नागरिक हैं. उन्होंने कहा कि वो ज़रूरी कागज़ात के साथ कोर्ट में जाएंगे और सिद्ध कर देंगे कि वो भारत के नागरिक हैं. उन्होंने कहा कि इसके पहले की कांग्रेस सरकार के निर्देश पर ट्रिब्यूनल ने उन्हें नोटिस जारी किया है.

इसके पहले ‘नागरिकता संशोधन अधिनियम 2016 को लेकर काफी विरोध हो चुका है जिसके अनुसार लोगों को लगता है कि ये असम समझौते के विरोध में है जिसमें प्रावधान किया गया था कि जो लोग भी 1971 के बाद बांग्लादेश से भारत में आए हैं उन्हें वापस भेज दिया जाएगा.