रवि-पुष्य नक्षत्र 2018 : इस रविवार को करें ये उपाय, होगा अपार धन-लाभ

रवि-पुष्य नक्षत्र को सभी नक्षत्रों में सर्वश्रेष्ठ माना गया है. ज्योतिष शास्त्र में पुष्य नक्षत्र आठवां नक्षत्र होता है जो सभी नक्षत्रों में श्रेष्ठ स्थान रखता है. रविवार के दिन पड़ने वाले इस संयोग को रवि-पुष्य योग के नाम से जाना जाता है.

इस महीने रवि-पुष्य का शुभ महासंयोग 20 मई 2018 (रविवार) को बन रहा है. पुष्य नक्षत्र को धन के लाभ के लिए अत्यंत शुभ माना गया है. शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि रवि-पुष्य नक्षत्र के शुभ संयोग में खरीददारी करना शुभ है

इस शुभ संयोग में किए गए मंत्र जाप का फल कई गुना अधिक मिलता है. इतना ही नहीं धन लाभ और कर्ज के मुक्ति के लिए भी यह शुभ संयोग बेहद खास है.

रवि-पुष्य संयोग: धन लाभ के उपाय

  • रवि-पुष्य नक्षत्र में धन प्राप्ति के लिए कमलगट्टे की माला पर महालक्ष्मी मंत्र का 108 बार जाप करें. मंत्र है-“ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:॥” ऐसा करने से महालक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और धन लाभ का वरदान प्रदान करतीं हैं.
  • रवि-पुष्य नक्षत्र के शुभ संयोग में दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर माता लक्ष्मी को चढ़ाने और उनके पास रखने से देवी अन्नपूर्ण प्रसन्न होती हैं.
  • इस दिन उगते सूर्य को अर्घ्य दें और ऊं घृणि: सूर्याय नम: मंत्र की एक माला जाप करें. आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें. इससे आयु और आरोग्य की प्राप्ति होती है.