अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म निर्माताओं को उत्तराखण्ड में फिल्मों की शूटिंग के लिये आमंत्रित किया जाये – रमेश सिप्पी

उत्तराखंड सुचना विभाग के निदेशक डॉ पंकज पाण्डेय मशहूर फिल्म निर्माता रमेश शिप्पी को उत्तराखंड फिल्म्स से अवगत कराते हुए

मुम्बई में आयोजित ‘ग्लोबल एग्जीबिशन ऑन सर्विसेज’ के अन्तर्गत उत्तराखण्ड के पवेलियन में विख्यात फिल्म निर्माता/निर्देशक रमेश सिप्पी को आमंत्रित किया गया. सचिव सूचना/महानिदेशक डाॅ.पंकज कुमार पाण्डेय तथा उप निदेशक सूचना के.एस.चैहान द्वारा उत्तराखण्ड में फिल्मों की शूटिंग की सम्भावनाओं के संबंध में फिल्म निर्माता/निर्देशक सिप्पी के साथ विस्तृत चर्चा की गई.

फिल्म निर्माता/निर्देशक सिप्पी ने कहा कि उत्तराखण्ड में फिल्मों की शूटिंग की अपार संभावनाएं है. उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में फिल्मों की शूटिंग करने हेतु गत 02 वर्षों से बहुत अच्छा माहौल बना है. उसी के कारण इस बार ज्यूरी द्वारा उत्तराखण्ड राज्य को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार के अन्तर्गत सर्वोत्तम फिल्म अनुकूल प्रदेश का पुरस्कार प्रदान किया गया है. उन्होंने सुझाव दिये कि उत्तराखण्ड में फिल्म निर्माताओं को समय-समय पर आमंत्रित किया जाय तथा छोटे-छोटे फिल्म फेस्टिवल आयोजित किये जाय. इसके साथ ही शूटिंग के लिये नये डेस्टीनेशन चिन्हित किये जाए.

उन्होंने कहा कि फिल्मों में प्रयोग होने वाले कैमरे इंस्ट्रूमेन्ट, टैक्निशियन, लाईटमैन के साथ ही अन्य आर्टिस्ट यदि उत्तराखण्ड में ही फिल्म निर्माताओं को प्राप्त हो जाते है, तो यह बहुत ही उपयोगी होगा. उन्होंने सुझाव दिया कि नये शूटिंग लोकेशन चिन्ह्ति कर वहां पर विभिन्न प्रकार की आवश्यक सुविधाओं को विकसित किया जाए. उन्होंने एक सुझाव यह भी दिया कि अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म निर्माताओं को भी उत्तराखण्ड में फिल्मों की शूटिंग के लिये आमंत्रित करने हेतु प्रयास किये जाए, जिससे कि उत्तराखण्ड राज्य की नैसर्गिक खुबसूरती को विश्व स्तर पर भी प्रचारित किया जा सकें.

सचिव/महानिदेशक सूचना पंकज कुमार पाण्डेय ने फिल्म निर्माता/निर्देशक सिप्पी को अवगत कराया कि गत एक वर्ष में उत्तराखण्ड में बडे फिल्म निर्माताओं की फिल्में शूट की गई है. एक वर्ष में लगभग 50 से अधिक फिल्मों/धारावाहिकों की शूटिंग उत्तराखण्ड में की गई. पाण्डेय ने अवगत कराया कि उत्तराखण्ड की फिल्म नीति में सरकार परिवर्तन कर रही है. जिसके लिये फिल्म निर्माता/निर्देशको के सुझाव महत्वपूर्ण है. पाण्डेय ने विस्तृत सुझाव देने के लिये ”राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार” की चयन समिति के सदस्यों को उत्तराखण्ड में बैठक के लिये आमंत्रित किया है. रमेश सिप्पी ने जून के प्रथम सप्ताह में पूरे बोर्ड के सदस्यों की देहरादून में बैठक के लिए अपनी सहमति व्यक्त की. ज्ञातव्य है कि रमेश सिप्पी राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समिति के सदस्य हैं.

इस अवसर पर अपर सचिव आई.टी. अमित सिन्हा, निदेशक उद्योग सुधीर नौटियाल, उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के नोडल अधिकारी के.एस.चैहान, फिल्म फेसिलेटेड सेंटर भारत सरकार के विक्रमजीत राय, सुसुनीता रावत, सुलीना एवं सुकविता भी उपस्थित थी.