IPL-11: पंजाब को हराकर कोलकाता ने प्लेऑफ की उम्मीदें कायम

कोलकाता नाइट राइडर्स ने शनिवार को बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को 31 रनों से हरा दिया. होल्कर क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए इस मैच में कोलकाता ने सुनील नरेन (75) और कप्तान दिनेश कार्तिक (50) के दम पर 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 245 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया.

पंजाब ने हालांकि अच्छी कोशिश की लेकिन वो 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 214 रन ही बना सकी और मैच हार गई. इस जीत के बाद कोलकाता ने अंकतालिका में शीर्ष-4 में वापसी कर ली है और प्लेऑफ में जाने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है.

यह कोलकाता का आईपीएल में सर्वोच्च स्कोर भी है.इससे पहले उसने 18 अप्रैल 2008 को आईपीएल के पहले संस्करण के पहले मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ तीन विकेट के नुकसान पर 222 रन बनाए थे.

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी पंजाब को क्रिस गेल (21) और राहुल की सलामी जोड़ी से तूफानी शुरुआत की उम्मीद थी.दोनों ने तेजी से रन तो बटोर, लेकिन औसत वो नहीं था जो पंजाब को चाहिए था.इस जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 5.4 ओवरों में 57 रन बनाए.

आंद्रे रसेल ने गेल को पवेलियन भेजा.अगली गेंद पर उन्होंने मयंक अग्रवाल को बिना खाता खोले आउट कर दिया.दूसरे छोर से हालांकि राहुल तेजी से रन बनाने की कोशिशों लगे हुए थे.

पंजाब का तीसरा विकेट 79 के कुल स्कोर पर गिरा.करुण नायर महज तीन रन बनाकर रसेल का तीसरा शिकार बने. यहां से एरॉन फिंच और राहुल ने टीम को संभालने की कोशिशें जारी रखीं लेकिन नरेन ने गेंद से कमाल दिखाते हुए राहुल को 93 के कुल स्को पर पवेलियन भेज दिया. उन्होंने 29 गेंदों की पारी में दो चौके और सात छक्के लगाए.

कुलदीप यादव ने अक्षर पटेल को 19 के निजी स्कोर पर पवेलियन भेज दिया.पंजाब ने 119 रनों के कुल स्कोर पर अपने पांच विकेट खो दिए थे और उसकी हार तय लग रही थी.

अंत में हालांकि कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने 22 गेंदों में चार चौके और तीन चौकों की मदद से 45 रनों की पारी खेल टीम को जीत दिलाने की भरपूर कोशिश की लेकिन सफल नहीं हुए.

कोलकाता के लिए रेसल ने तीन विकेट लिए.प्रसिद्ध कृष्णा को दो सफलताएं मिलीं. नरेन, कुलदीप और पीयूष चावला को एक-एक विकेट मिला.

इससे पहले, अश्विन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी. कुछ मैचों से शांत पड़ी नरेन और क्रिस लिन की जोड़ी इस अहम मैच में फॉर्म में आ गई.मोहित शर्मा और मुजीब उर रहमान ने हालांकि पहले तीन ओवरों में सिर्फ 19 रन खर्च किए.

चौथे ओवर से नरेन का बल्ला चल पड़ा.इस ओवर को फेंकने आए मुजीब की दूसरी गेंद पर नरेन ने बड़ा शॉट खेला जो सीधा मुजीब के पास ही गया.कैच नहीं हो सका, लेकिन मुजीब चोटिल होकर बाहर चले गए.अश्विन ओवर पूरा करने आए और आते ही नरेन ने उन पर शानदार छक्का और फिर चौका मारा.

बरिंदर सिंह शरण द्वारा फेंके गए अगले ओवर में इस जोड़ी ने 15 रन लिए.छठे ओवर की पहली गेंद पर लिन ने एंड्रयू टाई पर शानदार छक्का जड़ टीम के 50 रन पूरे किए, लेकिन अगली गेंद पर वो आउट हो गए.लिन ने 17 गेंदों में दो छक्के और दो चौकों की मदद से 27 रन बनाए.

खतरा टला नहीं था और नरेन फॉर्म में आ चुके थे.उनके बड़े शॉट जारी थे. नौवें ओवर की तीसरी गेंद पर एक रन लेकर नरेन ने इस सीजन का अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया जिसके लिए उन्होंने 26 गेंदें लीं. दूसरे छोर से रोबिन उथप्पा भी रन बना रहे थे. हालांकि वो नरेन के सामने शांत ही थे.दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 75 रन जोड़े.

लग रहा था नरेन आईपीएल में अपना शतक पूरा कर लेंगे, लेकिन टाई ने राहुल के हाथों नरेन को कैच आउट करा कोलकाता को 128 के कुल स्कोर पर दूसरा झटका दिया.

एक रन बाद उथप्पा भी टाई की गेंद पर मोहित को कैच देकर पवेलियन लौट लिए.उन्होंने 17 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 24 रन बनाए.

नरेन की कमी को उनके हमवतन रसेल पूरी कर रहे थे.उन्होंने महज 14 गेंदों में तीन छक्कों और दो चौकों की मदद से 31 रनों की पारी खेली.रसेल का विकेट 205 के कुल स्कोर पर गिरा. उन्होंने कार्तिक के साथ पांचवें विकेट के लिए 31 गेंदों में 76 रनों की साझेदारी को अंजाम दिया. कार्तिक तेजी से रन बटोरने में कोई कमी नहीं छोड़ना चाहते थे.उन्होंने 23 गेंदों की अपनी अर्धशतकीय पारी में पांच चौके और तीन छक्के लगाए.

कप्तान का विकेट आखिरी ओवर की दूसरी गेंद पर गिरा.शुभमन गिल आठ गेंदों में तीन चौकों की मदद से 16 रन बनाकर नाबाद रहे.