सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम ने उत्तराखंड के मुख्य न्यायाधीश जोसेफ का नाम दोबारा भेजा

सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम ने शुक्रवार को एक सामूहिक निर्णय में उत्तराखंड के मुख्य न्यायाधीश के.एम. जोसेफ की सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के तौर पर नियुक्ति की अनुशंसा दोबारा भेजने का फैसला किया है.

कॉलेजियम ने फैसला किया है कि न्यायमूर्ति जोसेफ को सुप्रीम कोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त करने के लिए 10 जनवरी को ‘सर्वसम्मति’ से किए गए सिफारिश को दोबारा भेजा जाएगा. इसके साथ ही कॉलेजियम कलकत्ता, राजस्थान, तेलंगाना और आंध्रप्रदेश हाई कोर्ट के संबंध में अनुशंसा भी 16 मई को होने वाले बैठक के बाद भेजेगा.

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति जे. चेलामेश्वर, न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति मदन बी.लोकुर और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ की कॉलेजियम ने यहां एक बैठक में यह फैसला लिया.

कॉलेजियम ने कहा, “प्रधान न्यायाधीश और कॉलेजियम के अन्य सदस्य सामूहिक रूप से सर्वसम्मति के साथ इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि न्यायमूर्ति के.एम. जोसेफ की सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के तौर पर नियुक्ति की सिफारिश को दोबारा भेजी जाएगी.”

केंद्र सरकार ने 26 अप्रैल को न्यायमूर्ति जोसेफ को सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश नियुक्त करने के संबंध में सिफारिश को वापस लौटा दिया था और कहा था कि अखिल भारतीय न्यायाधीश की वरिष्ठता के क्रम में वह 42वें स्थान पर आते हैं और हाईकोर्ट के 11 मुख्य न्यायाधीश उनसे वरिष्ठ हैं.