आईपीएल-11 : पंजाब को हराकर राजस्थान ने बरकरार रखीं अंतिम-4 में पहुंचने की उम्मीदें

मंगलवार को पूर्व विजेता राजस्थान रॉयल्स ने अपने घर सवाई मान सिंह स्टेडियम में खेले गए मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को 15 रनों से मात देकर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के प्लेऑफ में जाने की उम्मीदों को बरकरार रखा है.

पंजाब ने पहले गेंदबाजी करते हुए जोस बटलर (82) की अर्धशतकीय पारी के बाद भी राजस्थान को 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 158 रनों पर सीमित कर दिया था, लेकिन इस मैच में राजस्थान के गेंदबाजी आक्रामण ने कमाल दिखाया और पंजाब के मजबूत बल्लेबाजी क्रम के लक्ष्य हासिल नहीं करने दिया.

राजस्थान ने पंजाब को 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 147 रनों पर ही रोक दिया और रविवार को मिली हार का बदला लेने के साथ अपने घर में प्रशंसकों की उम्मीदों को कायम रखा. पंजाब के लिए एंड्रयू टाई और लोकेश राहुल का बेहतरीन प्रदर्शन जाया गया. टाई ने इस मैच में चार विकेट अपने नाम किए तो राहुल ने 70 गेंदों में 11 चौके और दो छक्कों की मदद से 95 रनों की पारी खेली जो उनका आईपीएल में उनका सर्वोच्च स्कोर भी है.

राहुल को दूसरे छोर से साथ नहीं मिला और उनके अलावा सिर्फ मार्कस स्टोइनिस ही दहाई के आंकड़े को छूने में सफल रहे जिन्होंने 11 रन बनाए.

159 का लक्ष्य पंजाब के लिए आसान लग रहा था, लेकिन राजस्थान के गेंदबाजों ने उसे बेहद मुश्किल कर दिया. शुरुआत कृष्णाप्पा गौतम ने की जिन्होंने क्रिस गेल (1) की मंशा को भांपते हुए लेग स्टम्प पर वाइड गेंद फेंक उन्हें बटलर के हाथों स्टम्पिंग करा पंजाब को पहला और बड़ा झटका दिया. गेल दूसरे ओवर की आखिरी गेंद पर 14 के कुल स्कोर पर आउट हुए.

कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने बल्लेबाजी क्रम से छेड़छाड़ किया और खुद तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए, लेकिन गौतम की एक बेहतरीन ऑफ स्पिन गेंद ने उनको जल्द ही पवेलियन में बैठा दिया. अभी तक पंजाब के मध्यक्रम का भार अपने कंधों पर लिए हुए करुण नायर (3) इस बार सफल नहीं हो पाए. चौथे ओवर में जोफरा आर्चर की गेंद पर जयदेव उनादकट ने पीछे भागते हुए उनका अच्छा कैच पकड़ा. 19 के कुल स्कोर पर पंजाब ने तीन विकेट खो दिए थे.

राहुल दूसरे छोर पर डटे हुए थे. अक्षदीप नाथ (9) ने कुछ देर उनका साथ दिया, लेकिन जैसी ही यह जोड़ी अपनी लय पकड़ती इश सोढ़ी ने अक्षदीप को गौतम के हाथों कैच करा पंजाब को 45 के कुल स्कोर पर चौथा झटका दिया.

मनोज तिवारी भी विफल रहे और 66 के कुल योग पर रहाणे ने उनका शानदार कैच पकड़ मेहमान टीम को परेशानी में डाल दिया. अक्षर पटेल (9) स्टुअर्ट बिन्नी की शानदार थ्रो के कारण रन आउट हो गए. पंजाब ने 81 रनों पर अपने छह विकेट खो दिए थे.

मार्कस स्टोइनिस ने राहुल के साथ सातवें विकेट के लिए 46 रनों की साझेदारी की लेकिन टीम को जीत नहीं मिली.

इससे पहले राजस्थान के बल्लेबाज भी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए और सिर्फ बटलर ही मेजबान टीम के लिए संघर्ष करते दिखे.

बटलर शुरू से ही आक्रामक थे, लेकिन दूसरे छोर से कोई बल्लेबाज उनका साथ नहीं दे सका. दूसरे छोर से कप्तान अंजिक्य रहाणे शांत थे. उन्होंने 10 गेंदों में एक चौके की मदद से सिर्फ नौ रन बनाए. वह 37 के कुल स्कोर पर टाई का पहला शिकार बने.

बटलर रुके नहीं और बड़े शॉट खेलते रहे. गौतम को ऊपरी क्रम में भेजा गया लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा सके और महज आठ के निजी स्कोर पर स्टोइनिस की गेंद पर तिवारी को कैच देकर 64 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट लिए.

संजू सैमसन ने बटलर का साथ देने की कोशिश की और संयम से खेलते हुए 18 गेंदों में एक चौके तथा एक छक्के की मदद से 22 रन बनाए, लेकिन मुजीब उर रहमान की गुगली को वह सही तरीके से बल्ले पर नहीं ले सके और तिवारी द्वार लपके गए. उनका विकेट 117 रनों के कुल योग पर गिरा.

मुजीब ने ही 17वें ओवर में बटलर को आउट कर उन्हें शतक से महरूम रखा. मुजीब की गेंद को निकलकर मारने में वह बीट हुए और लोकेश राहुल ने 132 के कुल स्कोर पर बटलर की गिल्लियां बिखेर कर राजस्थान को चौथा झटका दिया. उन्होंने अपनी पारी में 59 गेंदों का सामना करते हुए नौ चौके और एक छक्का लगाया.

बेन स्टोक्स और स्टुअर्ट बिन्नी क्रमश: 14 और 11 रन ही बना सके. टाई ने आखिरी ओवर में आर्चर और उनादकट को बिना खाता खोले पवेलियन भेज दिया.