उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी से लौटी ठंड, 13 राज्यों में आंधी-तूफान और भारी बारिश का अलर्ट

आंधी-तूफान और तेज बारिश की आशंका को देखते हुए समूचे उत्तर भारत में अलर्ट जारी कर दिया गया है. देश के कुल 13 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों में अलर्ट जारी है, मौसम विभाग ने कहा है कि अगले 48 घंटों में कुदरत कहर बरपा सकती है. गृह मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के कई स्थानों में आंधी-तूफान और ओलावृष्टि के साथ बारिश हो सकती है.

मौसम विभाग के मुताबिक असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के कुछ इलाकों में भारी बारिश हो सकती है. अधिकारी के मुताबिक, जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में भी गरज-बरज के साथ बारिश हो सकती है.

2 मई की रात कुदरत के कहर ने उत्तर प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, पंजाब और हरियाणा को ऐसे जख्मी किया, जिसमें करीब सवा सौ से लोगों की जान चली गई. मई के पहले सप्ताह में मौसम की ऐसी मनमानी से हर कोई डरा सहमा है. हरियाणा में मौसम के बदलते मिजाज को देखते हुए शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने सोमवार 7 और मंगलवार 8 मई को राज्य के सभी निजी और सरकारी स्कूलों को बंद रखने के निर्देश दिए हैं.

मौसम विभाग ने उत्तर भारत, उत्तर पूर्व और दक्षिण भारत के 13 राज्यों के लोगों को खासतौर पर सतर्क रहने को कहा है. यहां भारी बारिश के साथ तेज तूफान का खतरा है, ओलावृष्टि भी खेतों में लगी फसल के लिए तबाही ला सकती है. जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के लिए 8 मई तक की चेतावनी जारी की गई है. दिल्ली-एनसीआर में भी सोमवार 7 मई और मंगलवार 8 मई को 50 किलोमीटर प्रति घंटे से भी तेज रफ्तार से आंधी और बारिश की आशंका है.

उत्तर-पूर्व राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश और दक्षिण पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर साइक्लोनिक सर्कुलेशन मजबूती पकड़ चुका है. इसी वजह से उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में अगले 24 से 48 घंटों में मौसम करवट लेगा. हरियाणा सरकार ने तो एहतियातन सभी सरकारी और निजी स्कूलों को 7 और 8 मई तक के लिए बंद रखने का आदेश जारी किया है.

उत्तराखंड के ऊपरी इलाकों में तो बर्फबारी और बारिश ने दस्तक भी दे दी है. कड़ाके की ठंड से बचने के लिए लोगों ने गर्म कपड़ों का सहारा तो लिया है, लेकिन भारी बारिश से हालात अब ज्यादा बिगड़ सकते हैं.

उत्तर प्रदेश के पश्चिमी इलाके में 17 जिलों को सावधान किया गया है. जिसमें दिल्ली से सटे गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर जिले भी शामिल हैं. कई जिलों में पुलिस ने मुनादी करके लोगों से अपने-अपने घरों में सुरक्षित रहने की अपील की है.