GST काउंसिल की बैठक शुरू , चीनी समेत कई प्रोडक्ट्स पर फैसला संभव

जीएसटी काउंसिल की अहम बैठक शुक्रवार (4 मई को) को होगी. इस बैठक में शुगर सेक्टर को लेकर कई बड़े फैसले हो सकते हैं. सीएनबीसी-आवाज़ को सूत्रों के हवाले से जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक जीएसटी काउंसिल की बैठक में चीनी पर सेस नहीं लगेगा.

जीएसटी काउंसिल की बैठक के पहले आधिकारियों की बैठक खत्म हो गई है. अधिकारियों की बैठक में चीनी पर सेस लगाने पर सहमति नहीं बनी है. राज्यों ने चीनी पर सेस लगाने का किया विरोध किया है. इथेनॉल पर जीएसटी घटाने पर भी सहमति नहीं बन पाई है. साथ ही माना रहा है कि जीएसटीएन को सरकारी कंपनी बनाने पर भी सहमति नहीं बनी है.

सूत्रों के मुताबिक सीमेंट, पेंट, होम अप्लायंसेज पर टैक्स घटाने का प्रस्ताव नहीं है. कई राज्य डिजिटल ट्रांजैक्शन के एवज में टैक्स छूट के पक्ष में नहीं हैं. कुछ राज्यों ने राजस्व के नुकसान का हवाला दिया है. हालांकि अंतिम फैसला जीएसटी काउंसिल लेगी, काउंसिल का अधिकारियों की राय से सहमत होना जरूरी नहीं है.

सूत्रों के हवाले से मिली खबरों के मुताबिक जीएसटी के तहत डिजिटल ट्रांजैक्शन करने वालों को टैक्स में छूट देने पर विचार किया जा सकता है. ग्राहक और दुकानदार दोनों को डिजिटल ट्रांजैक्शन करने पर रियायत देने का प्रस्ताव है. जिसके तहत जीएसटी रिफंड में या फिर इनकम टैक्स रिटर्न में छूट देने की सिफारिश की गई है. सूत्रों के मुताबिक ग्राहक को कैश बैक के तौर पर रियायत देने पर भी विचार किया जाएगा.

जीएसटी काउंसिल जीएसटी के तहत प्रोविजनल रिफंड के 3 तरीकों विचार करेगी. प्रोविजनल रिफंड के तहत सामान खऱीदने वाले को इन्वॉयस मैचिंग से पहले ही इनपुट टैक्स क्रेडिट मिल जाएगा. काउंसिल की बैठक में जीएसटीएन को सरकारी कंपनी बनाने पर भी विचार होगा. अभी जीएसटीएन निजी कंपनी है