मानसेर जमीन घोटाला में हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को मिली राहत

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को गुरुग्राम के मानेसर जमीन घोटाला केस में पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने जमानत दे दी है.

हुड्डा को 5 लाख रुपए के मुचलके पर जमानत मिली है. गौरतलब है कि CBI द्वारा 15 अगस्त 2015 को पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा व अन्य के खिलाफ मानेसर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था.

क्या है मानेसर जमीन घोटाला?
गुरुग्राम के मानेसर में 900 एकड़ जमीन घोटाला मामले में सीबीआई ने धारा 420, 465, 467, 468, 471 व 120 बी के तहत केस दर्ज किया है. मानेसर, नौरंगपुर, लखनौला के करीब 500 किसान परिवारों की जमीन इस घोटाले में फंसी है.

आरोप लगा है कि सरकार ने भूमि अधिग्रहण का नोटिस जारी कर किसानों में डर पैदा किया, जिससे किसानों ने बिल्डरों को जमीन बेंच दी और जब बिल्डरों ने जमीन खरीद ली तो जमीन को रिलीज कर दिया.
इस मामले से जुड़े मुख्य शिकायतकर्मा राव ओमप्रकाश का कहना है कि सभी किसान अपनी जमीन वापस चाहते हैं. आरोप है कि किसानों से बहुत कम दामों में जमीन खरीदी गई.

जानकारी के मुताबिक, उस समय जमीन की कीमत 4 करोड़/एकड़ थी और उस हिसाब से 400 एकड़ जमीन के दाम करीब 1600 करोड़ है. लेकिन बिल्डरों ने महज 100 करोड़ में ही किसानों से जमीन को खरीदा.