‘मंगल’ का ‘मकर’ राशि में गोचर, इन राशियों का होगा भाग्योदय, ये राशियां झेलेंगी संकट

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल ग्रह का गोचर होने वाला है. मंगल का यह गोचर मकर राशि में होने जा रहा है. ज्योतिषी पंडित धनंजय पाण्डेय के अनुसार मंगल 2 मई को शाम 04 बजकर 49 मिनट पर धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करेगा. मंगल इस स्थिति में 06 नवंबर 2018 सुबह 8 बजकर 49 मिनट तक रहेंगे.

मंगल को सबसे क्रूर ग्रह माना जाता है. मंगल का यह गोचर जहां कुछ राशियों की तरक्की के भरपूर अवसर लेकर आ रहा है. वहीं कुछ राशियों के जातकों को बड़ी मुसीबत का सामना भी करना पड़ेगा.

नीचे जानिए किसका होगा भाग्योदय और कौन झेलेगा संकट…

मेष-: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल का गोचर आपकी राशि के 10 वें भाव में होगा. मंगल के इस गोचर से व्यापारी वर्ग को काफी उन्नति होने वाली है. इसके अलावा कानूनी मामलों में भी सफलता मिलने की उम्मीद है. कोई नए कार्य शुरू करने के लिए यह समय उत्तम और अनुकूल है.

वृष-: आपकी राशि में मंगल का गोचर 9 वें भाव में होने जा रहा है. मंगल के इस गोचर से किसी लम्बी दूरी की यात्रा के योग बन रहे हैं. इस दौरान धार्मिक कार्यों में अत्यधिक रुचि बढ़ेगी. जीवनसाथी को नौकरी में प्रमोशन के प्रबल योग हैं.

मिथुन-: मंगल आपकी राशि के 12 वें भाव में गोचर होने वाला है. इस गोचर की अवधि में आपको लाभ ही लाभ प्राप्त होने वाला है. इस गोचर के दौरान आपको अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है. पैसों के लेनदेन में अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है.

कर्क-: मंगल आपकी राशि के 7 वें भाव में गोचर करेंगे. इस गोचर की अवधि में आपको कुल मिलाकर मिलाजुला असर दिखने वाला है. साथ ही आपको अपने कार्यक्षेत्र में भी आशातीत सफलता मिलने वाली है. प्रेम संबंधों के लिए यह समय बहुत अच्छा नहीं है. इसलिए आपको इस मामले में आपको थोड़ी सावधानी रखनी पड़ेगी. विवाहित लोगों को अनावश्यक बहस से बचना चाहिए.

सिंह-: आपकी राशि के छठे भाव में मंगल का गोचार होगा. इस गोचर की अवधि में आपको लम्बी यात्रा पर जान पड़ सकता है. लेकिन आपको लम्बी दूरी की यात्रा से बचना चाहिए. अन्यथा मुश्किल में पड़ सकते हैं. वैवाहिक जीवन इस गोचर के दौरान सुखमय बीतने वाला है. किसी प्रतियोगिता परीक्षा में सफलता मिलने के प्रबल संभावना है.

कन्या-: मंगल आपकी कुंडली के 5 वें भाव में गोचर होने वाला है. किसी लम्बी दूरी की यात्रा से परेशानी आ सकती है. इस गोचर की अवधि में आपको अपने भाई-बहनों से अत्यधिक सहयोग प्राप्त होने वाला प्रेम संबंधों में सफलता और लाभ मिलने की पूरी संभावना है.

तुला-: तुला राशि में मंगल का यह गोचर चौथे भाव में होने वाला है. इस गोचर के दौरान आपको चौतरफा सफलता मिलने की उम्मीद है. इस दौरान आपकी आर्थिक स्थिति अत्यधिक मजबूत होगी. इस गोचर के दौरान किसी अन्य से अनावश्यक न उलझें. अन्यथा आपको भरी नुकसान सहना पड़ सकता है. इसके अलावा आपको अपनी वाणी पर पूर्ण नियंत्रण रखना चाहिए.

वृश्चिक-: आपकी राशि के तीसरे भाव में मंगल का गोचर होने वाला है. मंगल का यह गोचर आपके लिए बेहद शुभ साबित होगा. इस गोचर के दौरान आपके मान-सम्मान में बढ़ोतरी होगी. दोस्तों की नाराजगी आपके प्रति बनी रहेगी.

धनु-: मंगल आपकी राशि के दूसरे भाव में गोचर करने वाले हैं. इस गोचर से आपको अचानक धन लाभ हो सकता है. परिवार में किसी सदस्य का स्वास्थ्य प्रभावित होने से मानसिक परेशानी बढ़ेगी. आपको इस गोचर की अवधि में धैर्य से काम लेना चाहिए.

मकर-: मंगल आपकी ही राशि में गोचर करने जा रहे हैं. इस गोचर की अवधि में आपका क्रोध पर नियंत्रण नहीं रहने वाला है. इसलिए आपको इस गोचर के दौरान आपने क्रोध पर पूर्ण नियंत्रण रखना चाहिए. इस गोचर की अवधि में आपको वहां चलाते समय पूर्ण सावधानी बरतनी चाहिए. कोई नई प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं.

कुंभ-: मंगल का यह गोचर आपकी राशि के 12 वें भाव में होगा, इस दौरान आपको पूर्ण सावधानी बरतनी चाहिए. अनावश्यक खर्चों से बचना चाहिए. धन की आवश्यकता आपको होती रहेगी. छोटी यात्राएं भी संभावित हैं.

मीन-: मंगल का यह गोचर आपकी कुंडली के 11 वें भाव होगा. जिससे आपके आर्थिक पक्ष मजबूत होंगे. आपको मित्रों और सहयोगियों से पूर्ण सहयोग प्राप्त होने की उम्मीद है. किसी दूरस्थ स्थान की यात्रा करना आपके लिए लाभकारी रहेगा. पारिवारिक वातावरण भी सुखद रहेगा.