12 घंटों में गुरुग्राम से मुंबई, गडकरी ने पेश किया मास्टरप्लान

गुरुग्राम में जाम की समस्या दूर करने के लिए सरकार कई योजनाओं पर काम कर रही है. ऐसे में केंद्र सरकार गुरुग्राम को मुंबई से जोड़ने के लिए एक नया एक्सप्रेसवे बनाने जा रही है. हरियाणा के मेवात और गुजरात के दाहोद से होकर यह एक्सप्रेस वे गुजरेगा.

लोगों को जाम से मुक्त करने वाला ये एक्सप्रेस वे अगले तीन सालों में बनकर तैयार हो जाएगा. इस बात की जानकारी खुद केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने दी. सोमवार को गुरुग्राम में एक कार्यक्रम में गडकरी ने बात कही है. ऐसे में कहा जा रहा है कि इस प्रोजेक्ट की लागत करीब 60,000 करोड़ रुपए आएगी.

मौजूदा दूरी को 1,450 किलोमीटर से घटाकर यह एक्सप्रेसवे 1,250 किलोमीटर कर देगा. इससे दिल्ली से मुंबई जाने वाले लोगों को यहां एनएच 8 से 24 घंटे लगते हैं वो महज 12 घंटे हो जाएगी. केवल 12 घंटे में ये दूरी लोग तय कर पाएंगे. उन्होंने कहा कि दिसंबर से इस पर काम शुरू हो जाएगा और यह अगले तीन सालों में बनकर तैयार हो जाएगा. ये एक्सप्रेसवे गुरुग्राम में राजीव चौक से शुरू होगा.

ये एक्सप्रेस वे गुरुग्राम होते हुए दिल्ली से अलवर-सवाई माधोपुर-वडोदरा के रास्ते मुंबई तक एक्प्रेस हाईवे बनाया जाएगा, जिसके प्रथम चरण का वडोदरा से मुंबई तक के मार्ग के लगभग 44 हजार करोड़ के टेंडर हो चुके हैं. एक्सप्रेस हाईवे पर करीब 1 लाख करोड़ रुपये खर्च हों.