सीएम ने छात्रवृत्ति घोटाले की जांच के लिए एसआईटी के गठन के दिए आदेश

राज्य सरकार ने समाज कल्याण विभाग के छात्रवृत्ति घोटाले की जांच के लिए एसआईटी के गठन के आदेश दे दिए. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने पुलिस के नेतृत्व में चार सदस्यीय एसआईटी गठित करने को कहा है.

इस टीम में पुलिस के साथ ही तकनीकी शिक्षा, उच्च शिक्षा व समाज कल्याण विभाग के अधिकारी भी शामिल किए जाएंगे. समाज कल्याण विभाग के छात्रवृत्ति घोटाले का खुलासा किया था. शैक्षिक सत्र 2012-13 से लेकर 2014-15 के बीच सहारनपुर के कई निजी कॉलेजों ने इस घोटाले को अंजाम दिया था.

इसमें हरिद्वार, दून के छात्रों का आईटीआई, पॉलिटेक्निक व बीटेक में दाखिला दिखा, इन कॉलेजों ने छात्रवृत्ति हड़प ली. इसके बाद तत्कालीन अपर सचिव वी.षणमुगम की जांच में तमाम फर्जी दाखिले होने की पुष्टि हुई. जांच में घोटाले की रकम सौ करोड़ रुपये तक पहुंचने की आशंका के बाद विभाग ने एसआईटी जांच के लिए लिखा था.