उत्तराखंड सरकार एनसीईआरटी किताबों को लेकर प्राइवेट स्कूलों के असहयोग पर हुई सख्त, जारी किये नंबर

उत्तराखंड की रावत सरकार ने एनसीईआरटी किताबों को लेकर प्राइवेट स्कूलों के असहयोग पर सख्त रूख अपनाया है. स्कूलों द्वारा निजी प्रकाशकों की किताबें खरीदने का दबाव बनाने और व्यापारियों के किताबों की कालाबाजारी करने की लगातार बढ़ी शिकायतों पर मंगलवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने  कडे़ निर्देश जारी किए.

देहरादून में सबसे ज्यादा शिकायतें होने की वजह से दून में मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कंट्रोल रूम बना दिया गया है. साथ अभिभावकों को सलाह दी गई है कि किसी भी प्रकार का उत्पीड़न होने पर तत्काल अपने अपने जिलों के शिक्षा अधिकारियों को शिकायत करें. मालूम हो कि पिछले कई दिनों से मुख्यमंत्री मोबाइल एप, मुख्यमंत्री के फेसबुक पेज और ट्विटर अकाउंट पर अभिभावकों की शिकायतें मिल रही थीं.

उनका कहना है कि कुछ स्कूल एनसीईआरटी की पुस्तकों के अतिरिक्त अन्य प्राइवेट पुस्तकें खरीदने का दबाव बना रहे हैं. साथ ही कुछ दुकानदार एनसीईआरटी की किताबों की ओवर स्टॉकिंग कर रहे हैं. जिससे कई स्कूलों में एनसीईआरटी की किताबों की कमी हो गई है. मुख्यमंत्री कार्यालय ने मंगलवार को दून के सीईओ को कार्रवाई शुरू करने के निर्देश दे दिए. इसके तहत सीईओ कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाकर दो कर्मचारियों की नियुक्ति कर दी गई है. साथ ही मोबाइल नंबर और ई-मेल आईडी भी जारी कर दी गई हैं.

देहरादून के अभिभावक यहां करें शिकायत

मोबाइल: 9412403037 और 9412973903

ई-मेल : deo.dehradun.dir@gmail.com