आईपीएल-11 : रसैल पर भारी पड़े बिलिंग्स, चेन्नई ने अपने घर में की जीत से वापसी

चेन्नई सुपर किंग्स ने मंगलवार को एम.ए. चिदम्बरसम स्टेडियम में खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के मैच में कोलकाता को पांच विकेट से हरा कर अपने घर में दो साल बाद विजयी वापसी की है.

आंद्रे रसैल द्वारा 36 गेंदों में 11 छक्के और महज एक चौके की मदद से खेली गई 88 रनों की पारी भी कोलकाता नाइट राइडर्स को हार से बचा नहीं पाई.

कोलकाता ने चेन्नई के सामने 203 रनों की विशाल चुनौती रखी थी जिसे मेजबान टीम ने आखिरी ओवर में एक गेंद बाकी रहते हुए पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया.

रसैल की पारी पर सैम बिलिंग्स की 23 गेंदों में दो चौके और पांच छक्कों की मदद से खेली गई 53 रनों की पारी भारी पड़ गई. बिलिंग्स के अलावा चेन्नई के लिए शेन वाटसन ने 19 गेंदों पर 42 रनों की पारी खेली जिसमें तीन चौके और इतने ही छक्के शामिल थे.

चेन्नई को आखिरी ओवर में 17 रनों की दरकार थी.इन जरूरी रनों को ड्वायन ब्रावो (नाबाद 11, सात गेंद, एक छक्का) और रवींद्र जडेजा (नाबाद 11, पांच गेंद, एक छक्का) की जोड़ी ने पांच गेंदों में ही हासिल कर अपनी टीम को दूसरी जीत दिलाई.

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई को वाटसन और अंबाती रायुडू (39) ने तूफानी शुरुआत दी और पांच ओवरों में ही टीम का स्कोर 63 रनों तक पहुंचा दिया. अगले ओवर की पांचवीं गेंद पर वाटसन को टॉम कुरैन ने रिंकू सिंह के हाथों सीमा रेखा के पास कैच कराया. छह ओवरों में मेजबान टीम का स्कोर एक विकेट के नुकसान पर 75 रन था.

यहां से चेन्नई की रनगति धीमी होने लगी. नौवें ओवर की तीसरी गेंद पर कुलदीप यादव ने रायुडू को पवेलियन भेज दिया. सुरेश रैना 12 गेंदों में एक छक्के की मदद से 14 रन ही बना सके. उनका कैच विनय कुमार ने सुनील नरेन की गेंद पर 101 के कुल स्कोर पर लपका.

महेंद्र सिंह धौनी हालांकि दूसरे छोर पर खड़े थे और टीम के स्कोरबोर्ड को चला रहे थे. इसी बीच सैम बिलिंग्स ने अपना खेल खेला और तेजी से रन बटोरते हुए चेन्नई की रनगति को एक बार फिर रफ्तार दे दी. धौनी, पीयूष चावला की गेंद पर 155 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट लिए.

बिलिंग्स 19वें ओवर की चौथी गेंद पर एक और बड़ा शॉट मारने के प्रयास में कुरैन की गेंद पर रोबिन उथप्पा के हाथों लपके गए. अंत में ब्रावो और जडेजा ने मिलकर टीम को जीत दिलाई.

इससे पहले टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी कोलकाता ने एक समय अपने पांच विकेट 10 ओवरों में 89 रनों पर ही खो दिए थे, लेकिन रसैल ने जैसे ही क्रीज पर कदम रखा, रनों का सैलाब उमड़ पड़ा.

कोलकाता ने आखिरी के 10 ओवरों में 113 रन बटोरे और इसी कारण टीम 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 202 रन बनाने में सफल रही. यह रसैल का आईपीएल में सर्वोच्च स्कोर भी है.

कोलकाता को सुनील नरेन (12) ने तेज शुरुआत दी और दीपक चहर द्वारा फेंके गए पहले ओवर में दो शानदार छक्के जड़े. लेकिन अगले ही ओवर में हरभजन सिंह ने उन्हें पवेलियन भेज दिया.

नरेन के जाने के बाद भी कोलकाता की रनगति रुकी नहीं.रोबिन उथप्पा (29) ने तीसरा ओवर लेकर आए शेन वाटसन की गेंद पर दो शानदार चौके मारे. उथप्पा और लिन ने इमरान ताहिर को भी अपना निशाना बनाया.

लिन को रवींद्र जडेजा ने 51 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेजा.लिन ने 16 गेंदों में 22 रनों की पारी खेली. पिछले मैच के हीरो रहे नितीश राणा (16) ने वाटसन की गेंद को स्कावयर लेग के ऊपर से मारना चाहा, लेकिन गेंद उनके बल्ले के बाद जांघ पर लग हवा में उछल गई और धौनी ने उसे लपक लिया.

राणा की तरह उथप्पा की किस्मत भी खराब रही जो रैना की शानदार फील्डिंग के बाद विकेटों पर लगी सीधी थ्रो के कारण पवेलियन लौटने पर मजबूर हो गए.

रिंकू सिंह सिर्फ दो रन बनाकर पवेलियन लौट लिए. कोलकाता का स्कोर 89 रनों पर पांच विकेट हो गया. यहां से आंद्रे रसेल ने विकेट पर कदम रखा और फिर तूफान आया जो चेन्नई के सामने विशाल चुनौती रखते हुए नाबाद पवेलियन गया. चेन्नई की तरफ से वाटसन ने दो विकेट लिए. हरभजन, जडेजा, शार्दूल ठाकुर को एक-एक विकेट मिला.