राहुल गांधी को उम्मीद, विपक्ष एकजुट रहा तो 2019 में NDA की हार तय

राहुल गांधी को उम्मीद है कि अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव तक विपक्ष की एकता कायम रहेगा. उन्होंने रविवार को विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में वर्तमान सत्तारूढ़ गठबंधन (राजग) का ऐसा पतन होगा जैसा कई वर्षों में नहीं देखा गया होगा. एकजुट विपक्ष के सामने भाजपा चुनाव जीतने की बात तो भूल ही जाए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अपनी वाराणसी सीट गंवा सकते हैं.

‘जनआशीर्वाद यात्रा’ के तहत प्रचार अभियान के अपने छठे चरण के लिए राहुल गांधी कर्नाटक में हैं. रविवार को उन्होंने तीसरे मोर्चे की संभावना को नकारते हुए विभिन्न व्यक्तिगत और क्षेत्रीय महत्वाकांक्षाओं के बावजूद गठबंधन में नए दल जोड़ने और उन्हें साथ लेकर चलने का विश्वास जताया. उत्तर प्रदेश, बिहार और तमिलनाडु में विपक्षी एकता के प्रयासों के अलावा द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की कोशिशों का जिक्र करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने सवाल किया, ‘वे (भाजपा) कहां से सीटें जीतने जा रहे हैं.’ राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा और पंजाब को कांग्रेस जीत लेगी. विभिन्न दलों को साथ लेकर चलने के सवाल पर राहुल ने कहा, ‘हम उन्हें संभाल लेंगे.

कांग्रेस में हम जानते हैं कि लोगों को साथ लेकर कैसे चलें. हम अहंकारी लोग नहीं हैं, हम लोगों को दबाते नहीं हैं और न ही लोगों का जीवन बर्बाद करते हैं. इसलिए हम इसे संभाल लेंगे.’ उत्तर प्रदेश में विपक्षी गठबंधन तोड़ सकने के भाजपा के विश्वास को मजाक बताते हुए उन्होंने दावा किया कि वह उत्तर प्रदेश की राजनीति को समझते हैं. राहुल ने कहा, ‘जब तीनों पार्टियां (सपा, बसपा और कांग्रेस) साथ होंगी तो भाजपा सिर्फ दो सीटें जीत पाएगी और वे भी किस्मत से.’

राहुल ने कहा कि रोजगार सृजन में चीन से प्रतिस्पर्धा करके ही सरकार युवाओं में विश्वास पैदा कर सकती है क्योंकि अगले 30 साल तक वह भारत का प्रतिस्पर्धी बना रहेगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि आगामी वर्षो में यही प्रमुख मुद्दा होगा। राहुल गांधी ने कहा कि अगले कुछ महीनों में कांग्रेस अपना राष्ट्रीय घोषणापत्र तैयार कर लेगी. पार्टी में इसे तैयार करने के लिए संवाद लगातार जारी है.

राहुल गांधी ने रविवार को बेंगलुरु में विधानसभा से एमजी रोड तक मेट्रो से सफर किया. उनके साथ मुख्यमंत्री सिद्दरमैया और अन्य वरिष्ठ कांग्रेस नेता भी थे. मेट्रो स्टेशन पर उन्होंने टिकट लिया और मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी भी ली. मेट्रो में उन्होंने यात्रा कर रहे लोगों के साथ बातचीत भी की. एमजी रोड पर उतरने के बाद वह एक बुक स्टोर में गए, जहां सिद्दरमैया ने उनके लिए कुछ किताबें खरीदीं. बाद में उन्होंने एक रेस्त्रां में जाकर जलपान किया. जब वह रेस्त्रां से निकले तो सड़क किनारे एक आइसक्रीम पार्लर से कुल्फी भी ली. बाद में राहुल ने एक पंचसितारा होटल में महिला सशक्तिकरण पर एक सम्मेलन को संबोधित किया. वहां कविता लंकेश ने उन्हें अपनी बहन गौरी लंकेश की लिखी किताब ‘द वे आइ सी इट’ की प्रति भेंट की.