नेपाल के विकास में भारत का सहयोगी जारी रहेगा : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अपने नेपाली समकक्ष के.पी. शर्मा ओली को आश्वस्त किया कि भारत दोनों देशों के बीच खुली सीमा के गलत उपयोग को रोकने के लिए प्रतिबद्ध है. ओली शुक्रवार को भारत दौरे पर पहुंचे थे.

यहां हैदराबाद हाउस में दोनों देशों के बीच प्रतिनिधि स्तर की वार्ता के बाद नेपाली प्रधानमंत्री के साथ संयुक्त वार्ता में उन्होंने कहा, “जहां तक सुरक्षा पहलुओं की बात है तो हमारे बीच मजबूत संबंध हैं और हम अपनी खुली सीमा के गलत उपयोग को रोकने के लिए प्रतिबद्ध हैं.”

मोदी ने कहा कि पड़ोसी हिमालयी देश के विकास में भारत का योगदान जारी रहेगा. उन्होंने कहा, “नेपाल के विकास में भारत के योगदान का लंबा इतिहास रहा है. मैं प्रधानमंत्री ओली को आश्वस्त करना चाहता हूं कि यह भविष्य में भी जारी रहेगा.”

मोदी ने कहा कि दोनों देश रेलवे और जलमार्ग के माध्यम से संपर्क को बेहतर करने की ओर अग्रसर हैं. उन्होंने कहा, “हमारा मकसद नेपाल के साथ रेलमार्ग और जलमार्ग को बेहतर करना है. आज, हमने कुछ विभिन्न संपर्क परियोजनाओं की समीक्षा की.”

ओली फरवरी माह में दूसरी बार सत्ता पर काबिज होने के बाद पहली विदेश यात्रा के लिए शुक्रवार को यहां पहुंचे थे. दोनों नेता इससे पहले प्रतिनिधि स्तर की वार्ता के लिए मिले थे और विशेष रूप से व्यापार व संपर्क में आगे सहयोग पर दोनों ने चर्चा की थी.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने दोनों पक्षों के बीच वार्ता की अध्यक्षता करने वाले दोनों प्रधानमंत्रियों की एक तस्वीर भी ट्विटर पर साझा की.

प्रवक्ता ने कहा, “दोस्तों के बीच वार्ता. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली के बीच सभी क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों के विस्तार पर चर्चा लाभकारी रही. इनमें विकास सहयोग, व्यापार व निवेश, कृषि, ऊर्जा, संर्पक और लोगों से लोगों का संपर्क विशेष क्षेत्र है.”