डाटा लीक मामला : फेसबुक ने माना, 9 करोड़ यूज़र्स हुए शिकार

कैलिफ़ोर्निया|….. डाटा लीक के मामले में आलोचनाओं का सामना कर रही सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक से दुनिया के कई देशों द्वारा मांगी गई रिपोर्ट के बाद फेसबुक ने डाटा लीक मामले का शिकार हुए लोगों के बारे में बड़ा खुलासा किया है. फ़ेसबुक ने स्वीकार किया है कि 8.7 करोड़ लोगों की जानकारियाँ राजनीतिक सलाह देने वाली कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका के साथ ग़लत तरीके से साझा की गई है.

गौरतलब है कि डाटा लीक मामले के उजागर होने के बाद, भारत समेत दुनिया के दूसरे देशों ने भी फेसबुक को नोटिस जारी कर इस मुद्दे पर जवाब माँगा था, जिसके जवाब में फेसबुक ने बताया कि डाटा लीक का शिकार बने फेसबुक यूज़र्स में 11 लाख लोग ब्रिटेन के हैं. हालांकि, इससे पहले व्हिसल ब्लोअर क्रिस्टोफ़र वाइली ने पहले यह आंकड़ा पांच करोड़ बताया था. यह सारी जानकारियां फ़ेसबुक के मुख्य तकनीकी अधिकारी माइक श्रोएफ़र के ब्लॉग से सामने आई हैं.

यह ब्लॉग अमरीका की हाउस कॉमर्स कमेटी की घोषणा के कुछ घंटो बाद प्रकाशित किया गया. कमेटी ने घोषणा की थी कि फ़ेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग को 11 अप्रैल से पहले अपना बयान देना होगा. एक न्यूज़ चैनल ने खुलासा किया है कि कुछ जानकारियां अब भी इस्तेमाल हो रही हैं, जबकि कैम्ब्रिज एनालिटिका ने कहा था कि उसने इन्हें नष्ट कर दिया है. आपको बता दें कि इससे पहले कैम्ब्रिज एनालिटिका स्कैंडल सामने आने के बाद फ़ेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग ने स्वीकार किया था कि उनकी कंपनी से ‘ग़लतियां हुई हैं और वे इसके बाद वे सम्बंधित मामले में माफ़ी भी मांग चुके है.