किसानों के लिए अच्छी खबर, इस साल सूखा पड़ने की संभावना शून्य फीसदी

देश के किसानों के लिए अच्छी खबर है कि इस साल मॉनसून सीजन में अच्छी बरसात होने की संभावना जताई जा रही है. मॉनसून बेहतर रहने से खरीफ फसलों की बुआई अच्छी हो सकती है. मौसम संबंधी पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी कंपनी स्काइमेट ने बुधवार को इस साल के मॉनसून का पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा कि 2018 में मॉनूसन सामान्य रह सकता है. स्काइमेट के अनुसार, इस साल सूखा पड़ने की संभावना शून्य फीसदी है.

स्काइमेट की ओर से जारी दीर्घावधि मानसून पूवार्नुमान के अनुसार, जून से सितंबर की चार माह की मानसून अवधि में दीर्घावधि औसत 887 मिलीमीटर के मुकाबले इस साल 100 फीसदी बारिश होने का अनुमान है.

स्काइमेट के सीईओ जतिन सिंह के मुताबिक, ला नीना और प्रशांत क्षेत्र में धीरे-धीरे गर्मी बढ़ने से अत्यधिक बारिश की संभावना नहीं है. हालांकि नीनो इंडेक्स और तटस्थ आईओडी (इंडियन ओशन डायपोल) से मॉनूसन पर किसी प्रकार का प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की संभावना नहीं है. इस प्रकार मॉनसून सामान्य रहेगा.

मई-जून-जुलाई के तीन महीनों के दौरान नीनो इंडेक्स 60 फीसदी से ज्यादा तटस्थ रहने की संभावना है. वहीं, ला नीना मौसम पैटर्न 24 फीसदी और अलनीनो 14 फीसदी रह सकता है.

स्काइमेट के मुताबिक जून, जुलाई, अगस्त, सितंबर में कुल मॉनसून बारिश की संभावना इस प्रकार है:

अत्यधिक बारिश : 5 फीसदी (दीर्घावधि औसत के मुकाबले 110 फीसदी से अधिक वर्षा को अत्यधिक माना जाता है.)

समान्य से अधिक बारिश : 20 फीसदी (दीर्घावधि औसत के मुकाबले 105 फीसदी से 110 फीसदी वर्षा को अधिक माना जाता है.)

समान्य बारिश : 55 फीसदी (दीर्घावधि औसत के मुकाबले 96 फीसदी से 104 फीसदी वर्षा को सामान्य माना जाता है.)

समान्य से कम बारिश : 20 फीसदी (दीर्घावधि औसत के मुकाबले 90 फीसदी से 95 फीसदी वर्षा को सामान्य से कम माना जाता है.)

सूखे की संभावना : 0 फीसदी (मानसून सीजन में 90 फीसदी से कम बारिश होने पर सूखा घोषित किया जाता है.)

माननसून 2018 में प्रति माह वर्षा की संभावना इस प्रकार है :

जून – दीर्घावधि औसत के मुकाबले 111 फीसदी बारिश हो सकती है (जून में औसतन 164 मिमी वर्षा होती है.)

सामान्य बारिश की संभावना : 30 फीसदी

सामान्य से अधिक बारिश की संभावना : 60 फीसदी

सामान्य से कम बारिश की संभावना : 10 फीसदी

जुलाई-दीर्घावधि औसत के मुकाबले 97 फीसदी बारिश हो सकती है (जुलाई में औसतन 289 मिमी वर्षा होती है.)

सामान्य बारिश की संभावना : 55 फीसदी

सामान्य से अधिक बारिश की संभावना : 15 फीसदी

सामान्य से कम बारिश की संभावना : 30 फीसदी

अगस्त-दीर्घावधि औसत के मुकाबले 96 फीसदी बारिश हो सकती है (अगस्त में औसतन 261 मिमी वर्षा होती है.)

सामान्य बारिश की संभावना : 55 फीसदी

सामान्य से अधिक बारिश की संभावना : 10 फीसदी

सामान्य से कम बारिश की संभावना : 35 फीसदी

सितंबर-दीर्घावधि औसत के मुकाबले 101 फीसदी बारिश हो सकती है (सितंबर में औसतन 173 मिमी वर्षा होती है.)

सामान्य बारिश की संभावना : 60 फीसदी

सामान्य से अधिक बारिश की संभावना : 20 फीसदी

सामान्य से कम बारिश की संभावना : 20 फीसदी