आज से 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स की रंगारंग शुरुआत

बुधवार (4 अप्रैल) को 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स की रंगारंग शुरुआत ऑस्ट्रेलिया के शहर गोल्डकोस्ट में होगी. 4 से 15 अप्रैल तक चलने वाले इन खेलों का उद्घाटन समारोह करारा (Carrara) स्टेडियम में होगी. इन खेलों में 71 देशों के 4500 से ज्यादा एथलीट हिस्सा ले रहे हैं, जो 275 गोल्ड मेडल के लिए मुकाबला करेंगे.
भारत ने भेजा है 221 एथलीटों का दल

भारत ने इन खेलों के लिए 221 एथलीटों का दल भेजा है, जिनमें सबसे ज्यादा 31 एथलीट एथलेटिक्स और 27 एथलीट शूटिंग में हिस्सा ले रहे हैं. भारत इस बार 15 खेलों में हिस्सा ले रहा है और उसे लगभग खेल में मेडल जीतने का दावेदार माना जा रहा है. भारत ने 2014 में ग्लास्गो में हुए इन खेलों में 15 गोल्ड समेत कुल 64 मेडल जीते थे.

पीवी सिंधु उद्घाटन समारोह में होंगी भारतीय ध्वजवाहक
उद्घाटन समारोह में रियो ओलंपिक की सिल्वर मेडल विजेता पीवी सिंधु भारतीय ध्वजवाहक होंगी. सिंधु के अलावा भारतीय दल में दो बार के ओलंपिक मेडल विजेता सुशील कुमार, लंदन में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले एमसी मैरीकॉम, साइना नेहवाल और गगन नांरग जैसे स्टार खिलाड़ी भी उद्घाटन समारोह का हिस्सा होंगे, जिनसे इस बार न सिर्फ मेडल बल्कि गोल्ड मेडल जीतने की उम्मीदें लगाई जा रही हैं. उद्घाटन समारोह के दौरान भारतीय अपने नए परिधान में नजर आएगा.

स्टार खिलाड़ियों के अलावा सबकी निगाहें ISSF सीनियर वर्ल्ड कप में दो गोल्ड मेडल जीतकर तहलका मचाने वाली दिल्ली की 16 वर्षीय निशानेबाज मनु भाकर पर होंगी. मनु के अलावा सीनियर निशानेबाज हिना सिद्धू से भी मेडल की उम्मीदें रहेंगी.

बॉक्सिंग के अलावा वेटलिफ्टिंग और रेसलिंग में भारत को मेडल जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. सुशील के बाद भारत की नजरें साक्षी मलिक, विनेश फोगाट और बजरंग पूनिया पर होंगी.

भारत vs पाकिस्तान हॉकी मैच पर होंगी सबकी नजरें
कॉमनवेल्थ गेम्स में होने वाले भारतीय पुरुष हॉकी टीम और पाकिस्तान पुरुष हॉकी टीम के मैच पर सबकी नजरें होगी. इस मैच की टिकट ऑनलाइन सेल के लिए उपलब्ध कराने के एक घंटे के अंदर ही बिक गई थीं. रोचक बात ये है कि पाकिस्तान हॉकी टीम के कोच अब भारत के पूर्व कोच रोलैंट ऑल्टमैंस हैं.

कैसा रहा था 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का प्रदर्शन
भारत ने ग्लास्गो में हुए 2014 के कॉमनवेल्थ गेम्स में 15 गोल्ड, 30 सिल्वर, 19 ब्रॉन्ज समेत कुल 64 मेडल जीते थे. पिछले कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने सबसे ज्यादा 5 गोल्ड रेसलिंग में, 4 शूटिंग में, 3 वेटलिफ्टिंग में और बैडमिंटन, एथलेटिक्स और स्क्वैश में 1-1 गोल्ड मेडल जीते थे.

  • 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के लिए दीपिका पल्लीकल और जोशना चिनप्पा ने स्क्वैश महिला डबल्स में गोल्ड जीतकर इतिहास रचा था और कॉमनवेल्थ में स्क्वैश में भारत के लिए गोल्ड जीतने वाली पहली जोड़ी बनी थी.
  • इन खेलों में विकास गौड़ा ने पुरुष डिस्कस थ्रो इवेंट का गोल्ड जीता था, जो इन खेलों में 56 सालों में भारत का पहला गोल्ड मेडल था.
  • बैडमिंटन में पी कश्यप पुरुष सिंगल्स में गोल्ड जीतने वाले 32 वर्षों में पहले भारतीय खिलाड़ी बने थे.
  • दीपा कर्माकर ने जिमानास्टिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतते हुए इंटरनेशनल लेवल पर मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनी थीं.