दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम IPL शुरू होने से पहले नाराज है, जानिए कारण

आइपीएल के कार्यक्रम में दो बार बदलाव होने का सबसे ज्यादा असर दिल्ली डेयरडेविल्स पर पड़ा है और जिससे उसका प्रबंधन खुश नहीं है. दिल्ली डेयरडेविल्स को अब लीग के शुरुआती पांच मुकाबले घर से बाहर खेलने हैं.

इससे दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम खुश नहीं है और फ्रेंचाइजी के अधिकारियों ने इस बारे में बोर्ड से बात भी कि थी कि दिल्ली ऐसी अकेली टीम है जो शुरुआती पांच मुकाबले घर से बाहर खेलेगी.

दिल्ली को पहले अपना शुरुआती मुकाबला आठ अप्रैल को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ दिल्ली में खेलना था, लेकिन चंडीगढ़ एयरपोर्ट के 12 मई से 31 मई तक बंद रहने के कारण दिल्ली की टीम यह मुकाबला मोहाली में खेलेगी. वहीं कर्नाटक के चुनावों के मददेनजर बोर्ड ने दिल्ली का रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के खिलाफ 21 अप्रैल को कोटला में होने वाला मुकाबला भी बेंगलुरु में शिफ्ट कर दिया है.

अब दिल्ली बेंगलुरु के खिलाफ दूसरा मैच 12 मई को दिल्ली में खेलेगी. ऐसे में दिल्ली की टीम अपना पहला मुकाबला कोटला मैदान पर पंजाब के खिलाफ 23 अप्रैल को खेलेगी. दिल्ली अब बाहर खेले जाने वाले हर मुकाबले को जीतना चाहती है, जिससे बाद में घर में होने वाले मुकाबलों में उसके पास फायदा हो.

दिल्ली डेयरडेविल्स टीम में चुने गए नेपाल के पहले क्रिकेटर संदीप लामिछने का कहना है कि आइसीसी को विश्व कप में ज्यादा एसोसिएट देशों को शामिल करना चाहिए. हर क्रिकेटर का सपना होता है कि वह अपने देश के लिए विश्व कप खेले. आइसीसी ने अगले साल इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में सिर्फ आठ ही टीम को शामिल किया है.

जिंबाब्वे को हराकर वनडे क्रिकेट का दर्जा हासिल करने वाली नेपाल की टीम के प्रमुख स्पिनर संदीप ने कहा कि आइपीएल में खेलने से उन्हें बहुत फायदा मिलेगा. यहां से मिलने वाले अनुभव को वह अपनी राष्ट्रीय टीम में भी इस्तेमाल कर पाएंगे, जो उनके लिए ही नहीं बल्कि उनके देश के लिए भी अच्छा होगा.