आकाश अंबानी ने किया ऐलान, टेलीकॉम के बाद अब यहां धमाल करेगी JIO

रिलायंस जियो का सावन के साथ करार की घोषणा खुद आकाश अंबानी ने की. रिलायंस जियो के निदेशक आकाश अंबानी ने कहा कि सावन के साथ इस निवेश का मकसद डिजिटल इकोसिस्टम को बढ़ावा देना और ग्राहकों को बिना रुकावट डिजिटल एंटरटेनमेंट सर्विस देना है.

उन्होंने यह भी कहा कि ‘सावन के साथ इस साझेदारी की घोषणा करने में खुशी हो रही है. हम मानते हैं कि उनकी उच्च अनुभवी प्रबंधन टीम, जियो-सावन को एक बड़े नेटवर्क के विस्तार में सहायक होगी. जिससे भारतीय स्ट्रीमिंग बाजार में हमारी नेतृत्व की स्थिति को मजबूत करेगा.’

टेलीकॉम इंडस्ट्री में परचम लहराने के बाद अब रिलायंस जियो दूसरे कारोबार में भी अपना दमखम दिखाने में जुटी है. जियो अब अपने म्यूजिक कारोबार को बढ़ाना चाहती है. इसके लिए जियो म्यूजिक ने चर्चित म्यूजिक ऐप सावन के साथ एक करार किया है.

अब यह कंपनी जियो-सावन के नाम से म्यूजिक इंडस्ट्री में धमाल माचएगी. इसकी घोषणा खुद आकाश अंबानी ने की है. आकाश अंबानी के अनुसार, ऑनलाइन म्यूजिक की दुनिया में भी जियो म्यूजिक अपना परचम लहराने जा रही है.

खबर के अनुसार, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की डिजिटल म्यूजिक सर्विस ‘जियो म्यूजिक’ और दुनिया की बड़ी म्यूजिक ऐप ‘सावन’ के बीच करार की घोषणा की है. दोनों को मिलाकर इसका बाजार मूल्य 1 बिलियन अमरीकी डॉलर से अधिक हो जाएगा.

जियो म्यूजिक का मार्केट वैल्यू 670 मिलियन अमेरिकी डॉलर है. विलय के अलावा रिलायंस इसमें 104 मिलियन डॉलर का कैश निवेश करेगी. इसके अलावा बाकी हिस्सेदारी शेयर के जरिए होगी. इसमें पहले 20 मिलियन डॉलर निवेश किया जाएगा.

रिलायंस जियो, सावन के मौजूदा शेयरधारकों से आंशिक हिस्सेदारी खरीद रही है, जिसमें टायगर ग्लोबल मैनेजमेंट, लिबर्टी मीडिया और बर्टल्समैन शामिल हैं. सावन के तीन सह-संस्थापक ऋषि मल्होत्रा, परमदीप सिंह विनोद भट, उनके नेतृत्व की भूमिकाओं में बने रहेंगे और इसका संचालन करते रहेंगे.

सावन के को-फाउंडर ऋषि मल्होत्रा के अनुसार, लगभग दस साल पहले हमने सोचा था कि एक ऐसा म्यूजिक प्लेटफॉर्म बनाएंगे जो दक्षिण एशियाई देशों के कल्चर से प्रभावित हो. रिलायंस के साथ इस साझेदारी के बाद हम दुनियाभर सबसे तेजी से बढ़ने वाले मीडिया प्लेटफॉर्म बनने की ओर कदम बढ़ा चुके हैं.