नालंदा: अवैध पटाखा फैक्ट्री में धमाका, तीन बच्चे सहित पांच लोगों की मौत

बीती रात नालंदा में अवैध पटाखा फैक्ट्री में धमाका के बाद आग लग गई. विस्फोट इतना भयंकर था कि फैक्ट्री सहित आस पास के करीब पांच मकान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए. विस्फोट से करीब एक किलोमीटर तक का इलाका थर्रा उठा. विस्फोट की वजह से कई मकानों में आग लग गयी.

जिसपर काबू पाने में अग्निशमन दल की टीम को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. करीब 2 घण्टे की कोशिशों के बाद आग पर काबू पाया गया. थाना अध्यक्ष ने बताया कि स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि हादसे में घायल सरफराज अपने किराए के मकान में पटाखों का अवैध कारोबार किया करता था.

नालंदा जिले में सोहसराय के एक मोहल्ले में एक मकान में बीती रात (22 मार्च) विस्फोट होने से तीन बच्चे सहित पांच लोगों की मौत हो गयी जबकि 15 अन्य जख्मी हो गए. सोहसराय थाना अध्यक्ष शेर सिंह यादव ने बताया कि इस हादसे में मरने वालों में मोहम्मद सरफ़राज़ की छोटी बेटी सुमेरा, तनिक फातिमा, उनका बेटा सरताज, बहन शाइस्ता व एक अन्य व्यक्ति मुन्ना पंडित शामिल हैं.

इस हादसे में मारे गए बच्चों की उम्र एक महीने से चार साल के बीच थी. उन्होंने बताया कि इस हादसे में घायल हुए लोगों में पांच की स्थिति गंभीर है और उन्हें बेहतर इलाज के लिए पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेजा गया है, जबकि बाकी अन्य का इलाज जिला सदर अस्पताल में जारी है.

इस हादसे की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी त्यागराजन और पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार पोरिका ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया और बचाव एवं राहत कार्य शुरू करवाया. इस हादसे में मरने वाले मुन्ना पंडित के परिजनों सहित अन्य स्थानीय लोगों ने पटाखे के अवैध कारोबार को लेकर सड़क जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया.

बिहार शरीफ के सोहसराय थाना इलाके के भीड़ भाड़ वाले इस इलाके में इस तरह का अबैध कारोबार किया जा रहा था जिसकी भनक स्थानीय पुलिस को नहीं थी या पुलिस इस घटना की इंतजार कर रही थी.

पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि यह विस्फोट सरफराज के घर में मौजूद पटाखों से हुआ या अन्य किसी शक्तिशाली विस्फोटक पदार्थ के कारण हुआ है.