BCCI ने शमी को क्लीनचिट दी, शमी बोले- अब यहां निकालूंगा अपना गुस्सा

बीसीसीआई ने हसीन जहां के आरोपों के मद्देनजर शमी का अनुबंध रोके रखने का फैसला किया था। शमी पर उनकी पत्नी ने व्यभिचार और घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था और उनके खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी. शमी ने सभी आरोपों का खंडन किया था.

प्रशासकों की समिति( सीओए) ने विशेष तौर पर एसीयू के अपने प्रमुख नीरज कुमार से इन आरोपों की जांच करने के लिये कहा था कि इस गेंदबाज ने पाकिस्तानी महिला अलिश्बा के जरिये किसी मोहम्मद भाई से पैसे लिये थे.

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को लंबे समय बाद राहत भरी खबर मिली है. पत्नी हसीन जहां द्वारा लगाए गए मैच फिक्सिंग के आरोपों से उन्हें बीसीसीआई ने बरी कर दिया है. भ्रष्टाचार के आरोपों के बीच भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी ने कहा कि उन्हें पूरा यकीन था कि वह अपनी बेगुनाही साबित कर लेंगे.

बीसीसीआई की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई( एसीयू) ने तेज गेंदबाज को उनकी पत्नी द्वारा लगाये गये भ्रष्टाचार के आरोपों से दोषमुक्त करार दे दिया और इसके बाद बोर्ड ने उनके केंद्रीय अनुबंध को मंजूरी दे दी.

शमी ने कहा, ‘मुझे पर बहुत ज्यादा दबाव था, लेकिन बीसीसीआई से क्लीनचिट मिलने के बाद मैं राहत महसूस कर रहा हूं. मैं अपने देश के प्रति अपनी वफादारी और प्रतिबद्धता पर सवाल किए जाने से दुखी था. लेकिन मेरा बीसीसीआई की जांच प्रक्रिया में पूरा भरोसा था. मैं मैदान में वापसी करने को लेकर उत्साहित हूं.’

उन्होंने कहा, ‘पिछले10-15 दिन मेरे लिए काफी मुश्किल रहे. खासकर मैच फिक्सिंग के आरोप से मुझपर काफी दबाव आ गया था. मैंने अपने गुस्से को क्रिकेट के मैदान पर निकालूंगा. शमी फिलहाल आईपीएल में दिल्ली की टीम की ओर से खेलेंगे. दक्षिण अफ्रीका में टीम इंडिया को आखिरी टेस्ट में मिली जीत के हीरो वही रहे थे. इस फैसले से मुझे मैदान में प्रदर्शन करने का साहस एवं प्रेरणा मिली है. मैं आने वाले दिनों में अपनी गेंदबाजी से जवाब दूंगा. यह मेरे लिए एक बड़ी जीत है और मुझे उम्मीद है कि आने वाले दिनों में मैं बाकी आरोपों को लेकर भी पाक साफ साबित हो जाऊंगा.’

हालांकि तेज गेंदबाज ने माना है कि उन्हें डर था कि उन्हें फंसाया जा सकता है. उन्होंने कहा, ‘मैं जानता था कि मैंने कुछ गलत नहीं किया है लेकिन तब भी डरा हुआ था कि मुझे कहीं फंसा ना दिया जाए. मैं बीसीसीआई का जितना भी आभार व्यक्त करूं, वह कम होगा.’

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) द्वारा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को बोर्ड के केंद्रीय अनुबंध में शामिल करने के लिए कहे जाने के बाद इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टीम दिल्ली डेयरडेविल्स ने गुरुवार को शमी का अपनी टीम में स्वागत किया. डेयरडेविल्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हेमंत दुआ ने एक ट्वीट के जरिए शमी की टीम में वापसी की पुष्टि की है.

दुआ ने लिखा, “इस बात का ऐलान करते हुए खुशी हो रही है कि बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) ने शमी को क्लीन चिट दे दी है और अब वह आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेलेंगे.” बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई ने शमी की पत्नी हसीन जहां द्वारा लगाए गए मैच फिक्सिंग के आरोपों की जांच में शमी को निर्दोष पाया है। इसके बाद सीओए ने बीसीसीआई से शमी को ग्रेड-बी के तहत केंद्रीय अनुबंध में शामिल करने को कहा है.