मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा- ‘राहुल गांधी अक्ल से पैदल हैं क्या?’

इराक में 2014 में 40 भारतीय लापता हो गए थे, जिनमें से मंगलवार को 39 की हत्या की पुष्टि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने की थी. उन्होंने बताया था कि शवों की पहचान डीएनए के मिलान से की गई थी.

अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर विवादित बयान दिया है. मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘राहुल गांधी जी अक्ल से पैदल हैं क्या? उनको ये समझना चाहिए कि भोले-भाले भारतीयों के डाटा चोरी (फेसबुक डाटा लीक) का गंभीर अपराध हुआ है और यदि उसमें शामिल लोगों का पर्दाफाश हो रहा है तो इसमें उनको क्या प्रॉब्लम है?’

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर आरोप लगाया है कि सरकार डाटा लीक मामले का सहारा लेकर 39 भारतीयों की इराक में मारे जाने की घटना को दबा रही है. सरकार का झूठ पकड़ा गया है.

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘इराक में 39 भारतीयों की मौत की घटना का समाधान कुछ इस तरह निकलता है कि मीडिया कांग्रेस और डाटा चोरी पर स्टोरी बनाएं. समस्या का परिणाम यह निकलता है कि मीडिया से 39 भारतीयों की मौत की खबर रडार से गायब हो गए और अब समस्या का समाधान हो गया.’

सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक विवादों में घिर गई है. इसके पांच करोड़ यूजर्स की जानकारियां लीक हो गई हैं. फेसबुक के संस्‍थापक मार्क जुकरबर्ग ने भी इस मामले में गलती मानते हुए कहा है कि यूजर्स के डाटा की सुरक्षा करना हमारी जिम्‍मेदारी है लेकिन इस तरह की चूक हुई है.

दरअसल कहा जा रहा है कि ब्रिटेन की कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी ने इस जानकारी को या तो चुराया या फेसबुक से खरीदा. इस मामले की जांच हो रही है. कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी इलेक्‍शन कंसल्‍टेंसी फर्म है. यह चुनावी अभियान के लिए संभावित वोटरों का प्रोफाइल तैयार करती है.