वेंकैया नायडू ने की इस कांग्रेस नेता की तारीफ

एम. वेंकैया नायडू ने राज्यसभा में हंगामे से नाराज होकर बुधवार की रात (21 मार्च) का डिनर कैंसिल कर दिया था. उन्होंने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभाध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष और सदन के अन्य नेताओं को बुधवार की रात (21 मार्च) डिनर पर आमंत्रित किया था, क्योंकि उन्हें उम्मीद थी कि ऐसा करने से राज्यसभा में हंगामा खत्म हो जाएगा और सामान्य रूप से काम शुरू हो जाएगा.

लेकिन, ऐसा नहीं हुआ, जिससे वेंकैया नायडू नाराज हो गए और उन्होंने बुधवार का डिनर कैंसिल कर दिया था. वह 19 मार्च को राज्यसभा में हंगामा खत्म होने की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

राज्यसभा में हंगामा नहीं थमने से सभापति एम वेंकैया नायडू नाराज हैं, लेकिन आज (22 मार्च) उन्होंने कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा की सराहना की. उन्होंने नियमित रूप से सदन में आने और मर्यादित आचरण करने के लिए मोतीलाल की तारीफ की.

राज्यसभा की बैठक शुरू होने पर सभापति नायडू ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाने शुरू किया और इसी दौरान उन्होंने रेल संबंधी स्थायी संसदीय समिति का विवरण सदन के पटल पर रखने के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का नाम पुकारा.

वोरा ने दस्तावेज सदन के पटल पर रखा. उसके बाद नायडू ने वोरा की सराहना करते हुए कहा कि वोरा इस उम्र में भी नियमित रूप से सदन में आते हैं और उनका आचरण भी मर्यादित है. उन्होंने कहा कि यह एक उदाहरण है और सदन के युवा सदस्यों को उनका अनुकरण करना चाहिए. नायडू की इस बात पर मोतीलाल वोरा मुस्कुरा पड़े और सदन में मौजूद सदस्यों ने मेजें थपथपाकर नायडू की बात का समर्थन किया.